ताज़ा खबर
OtherTop 10ताज़ा खबरभारतराज्य

भारत में निवार का मंडराया खतरा

इन बड़े तूफानों ने मचाई भारी तबाही

नई दिल्ली। कोरोना काल में भारत के तट से जल्द ही निवार तूफान टकरा सकता है। बंगाल की खाड़ी से तमिलनाडु और पुडुचेरी की तरफ तेजी से बढ़ रहा ‘निवार’ चक्रवात भयंकर रूप ले चुका है। तूफान से तबाही की आशंका को देखते हुए एनडीआरएफ के 1200 जवानों को अलग-अलग जगहों पर तैनात किया गया है। भारत में पहले भी तूफान की वजह से भारी तबाही हुई है। तटीय इलाकों में तूफानों की वजह से हजारों लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है, जबकि लाखों लोगों को विस्थापित होना पड़ा है।

एम्फन ने मचाई भारी तबाही
मई में ‘एम्फन’ तूफान और जून में ‘निसर्ग’ ने तटीय इलाकों में भीषण तबाही मचाई थी। एम्फन का सबसे ज्यादा असर पश्चिम बंगाल और ओड़िशा में देखा गया। तूफान से करीब 1.3 करोड़ लोग प्रभावित हुए। भारत और बांग्लादेश में करीब 102 लोगों की मौत हुई। इस दौरान हवा की रफ्तार 130-140 किमी प्रति घंटे की रही।

ओडिशा पर फानी का कहर
साल 2019 में ‘फानी’ तूफान ने ओडिशा में भारी तबाही मचाई थी। इसकी चपेट में आने से 72 लोगों की मौत हुई थी। फानी को भी 1999 के सुपर साइक्लोन जितना खतरनाक माना गया था। ओडिशा में 120 मील प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवाओं की वजह से बड़े पेड़ जड़ों समेत उखड़ गए, बसें पलट गईं, घरों के दरवाजे और खिड़कियां टूटकर अलग हो गईं।

दक्षिण भारत में वर्धा तूफान
साल 2016 में 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आए ‘वर्धा’ चक्रवात ने दक्षिण भारत में तबाही मचाई थी। भारत में इस तूफान ने 18 लोगों की जान ली थी, जबकि लाखों पेड़ तबाह हो गए थे। इस तूफान की वजह से सबसे ज्यादा तबाही चेन्नई और अंडमान निकोबार में हुई थी। चेन्नई में कई दिनों तक एयरपोर्ट बंद रहे थे।

हुदहुद से कांपा भारत 
साल 2014 में ‘ हुदुहुद’ तूफान ने भी भारी तबाही मचाई थी। 185 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार वाले इस तूफान ने आंध्रप्रदेश में विशाखापट्टनम, ओडिशा और उत्तर प्रदेश को हिला कर रख दिया था। इस तूफान की वजह से 124 लोगों की मौत हुई थी। वहीं, यूपी में 18 लोगों की जान गई थी। इस तबाही से निपटने के लिए केंद्र सरकार ने 1000 करोड़ रुपये का राहत पैकेज जारी किया था।

Related posts

इंडिया रेटिंग्स ने कहा- जीडीपी 7.8 प्रतिशत रहेगी

samacharprahari

आईपीएल जल्दी छोड़ना चाहते हैं ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स

samacharprahari

क्रिप्टो करेंसी ठगी मामले में ईडी ने 37 करोड़ की प्रॉपर्टी जब्त की

samacharprahari

वैक्सीन कोल्‍ड चेन को मजबूत बनाएगा गोदरेज

Prem Chand

1 अगस्त से बदलेगा मिनिमम बैलेंस रुल, डिपॉजिट और विड्रॉल पर भी लगेगा चार्ज

Prem Chand

रिलायंस जियो में 51वें राष्ट्रीय सुरक्षा सप्ताह का आयोजन

Prem Chand