ताज़ा खबर
ताज़ा खबरबिज़नेस

रिलायंस इंडस्ट्रीज शेयर दो हजार रुपए के पार

मुंबई। एशिया के सबसे अमीर मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर ने बुधवार को कामकाज के दौरान दो हजार रुपए की कीमत को पार कर 2010 रुपये का रिकार्ड भाव छूआ। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने विश्व की पहली 50 प्रमुख कंपनियों में अपना स्थान और मजबूत किया है। कारोबार की समाप्ति परबुधवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण 1270480.06 लाख कऱड रुपये था।
रिलायंस इंडस्ट्रीज के पूरी तरह कर्जमुक्त होने और जियो प्लेटफॉर्म्स में फेसबुक और गूगल जैसी दिग्गजों के भारी निवेश करने से आरआईएल के शेयर छंलाग लगे रहे हैं। हालांकि 15 जुलाई को रिलायंस इंडस्ट्रीज की एजीएम के बाद शेयर को कुछ झटका लगा था, लेकिन इससे जल्दी ही उबर गया।
बुधवार को शुरुआती कारोबार के दौरान बीएसई पर रिलायंस का शेयर मंगलवार के 1971.85 रुपये की तुलना में 1980.05 रुपये पर खुला। दोपहर के कामकाज में शेयर 2010 रुपये तक चढ़ा। सत्र की समाप्ति पर 32.25 रुपये अर्थात 1.64 प्रतिशत की छंलाग लगाते हुए पहली बार दो हजार रुपये के ऊपर 2004.10 रुपये पर बंद हुआ। एनएसई में रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर का भाव 2004 रुपये पर 32.45 रुपये अर्थात 1.65 प्रतिशत ऊपर बंद हुआ।

बुधवार को रिलायंस का बाजार पूंजीकरण 12.70 लाख करोड रुपये को छू गया। बता दें कि देश की सबसे मूल्यवान कंपनी रिलायंस का शेयर मार्च 2020 में 867.82 रुपये तक लुढ़क गया था। अब तक के कारोबार में रिलायंस इंडस्ट्रीज का अधिकतम प्राइस बैंड 2169 रुपये और निम्नतम 1774.90 रुपये तय किया गया था। रिलायंस का आंशिक भुगतान वाले राईट इश्यू के शेयर का भाव 2.2 प्रतिशत बढ़कर 1106.6 रुपये और इसका बाजार पूंजीकरण 46765 करोड रुपये रहा और इसे मिलाकर कंपनी का कुल बाजार पूंजीकरण फिर 13 लाख करोड रुपये को पार कर 1317245 लाख करोड रुपये हो गया।

Related posts

महाराष्ट्र में निकाय चुनावों में ओबीसी आरक्षण पर रोक!

Amit Kumar

देश की संपत्ति को निजी हाथों में सौंपने की साजिश में जुटी है भाजपा : अखिलेश

Girish Chandra

देश की जनता बीजेपी का अहंकार तोड़ने जा रही है: अखिलेश यादव

Prem Chand

भारतीय डॉर्नियर ने पाकिस्तानी जंगी जहाज आलमगीर को खदेड़ा

samacharprahari

तब्लीगी जमात के 29 विदेशी सदस्यों के खिलाफ दर्ज एफआईआर रद्द करे सरकार : अदालत

samacharprahari

कर लगाने के राज्य के अधिकारों में किसी तरह का अतिक्रमण ठीक नहीं: अजीत पवार

samacharprahari