ताज़ा खबर
Otherराज्य

भारतीय कंपनियों में छंटनी सत्र, रतन टाटा ने कहा- ‘लीडर में सहानुभूति नहीं’

नई दिल्ली । टाटा समूह के संरक्षक रतन टाटा ने कोविड-19 महामारी की वजह से भारतीय कंपनियों में हो रही छंटनी को लेकर अपनी नाराजगी व्यक्त की. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के ऐसे मुश्किल वक्त में लोगों के प्रति कंपनियों की जिम्मेदारी बनती है. भारतीय कंपनियों द्वारा नौकरी से निकाले जाने की अनगिनत घटनाओं पर उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है जैसे कंपनियों की टॉप लीडरशिप में सहानुभूति की कमी हो गई है.

रतन टाटा ने कहा कि ये वे लोग हैं जिन्होंने कंपनी के लिए अपना पूरा करियर लगा दिया है. इस संकट के समय आप इन्हें सपोर्ट करने की जगह बेरोजगार कर रहे हैं. उन्होंने बिजनेस को लेकर अपनी सोच बताते हुए कहा कि बिजेनस का मतलब सिर्फ मुनाफा कमाना नहीं होता है. यह बहुत जरूरी है कि जो स्टेकहोल्डर्स, कस्टमर्स और कर्मचारी आपसे जुड़े हैं, उनके हितों को भी ध्यान में रखा जाए.

Related posts

गेट फांदकर जेपी सेंटर में घुसे अखिलेश

samacharprahari

2 मिलियन डॉलर के साथ महिला अरेस्ट, ब्रिटेन एयरपोर्ट पर 15 बैग बरामद

Prem Chand

इजराइल ने चार फलस्तीनियों को मुठभेड़ में मार गिराया

Vinay

2025-26 तक पेट्रोल में 20 फीसदी एथेनॉल मिलाने का लक्ष्य

Prem Chand

समय से पहले आ सकता है मॉनसून

Prem Chand

बलात्कार के मामले में शाहनवाज हुसैन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाए:उच्च न्यायालय

samacharprahari