ताज़ा खबर
OtherPoliticsTop 10ताज़ा खबरभारतराज्य

सरकारी कोटे की दुकान को लेकर बवाल, एक की मौत, कई घायल

सरकारी कोटे की दुकान को लेकर बवाल
एसडीएम और सीओ के सामने भाजपा नेता ने की फायरिंग

बलिया। उत्‍तर प्रदेश में अपराधियों के हौसले तो बुलंद हैं ही, लेकिन अब सत्ता पक्ष के नेता भी खुलेआम कानून अपने हाथ में लेने से गुरेज नहीं कर रहे हैं। बलिया में कोटा आवंटन के दौरान भाजपा के एक नेता ने दिनदहाड़े गोली मारकर एक व्यक्ति की हत्या कर दी। एसडीएम और पुलिस के सामने हुई इस वारदात से सनसनी फैल गई। घायलों को सीएचसी सोनबरसा में भर्ती कराया गया है, जबकि तनाव को देखते हुए गांव में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। मुख्यमंत्री अजय सिंह बिष्ट ने दोषियों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई के आदेश दिए हैं। इस मामले में एसडीएम, सीओ और अन्‍य अधिकारियों को तत्‍काल प्रभाव से सस्‍पेंड करने का आदेश दे दिया है।

भाजपा नेता फरार
सूत्रों ने बताया कि बलिया में सरकारी कोटे की दुकान को लेकर हुए विवाद में भाजपा नेता ने एसडीएम और सीओ के सामने ही एक युवक की गोली मारकर हत्‍या कर दी। यह घटना दुर्जनपुर गांव की बताई जा रही है। गोली चलते ही भगदड़ मच गई। घायल युवक को तत्‍काल अस्‍पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। भगदड़ का फायदा उठाकर आरोपी नेता धीरेंद्र सिंह भी फरार हो गया। उसके खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया गया है। दिनदहाड़े हुई इस घटना से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया।

विवाद सुलझाने का प्रयास कर रहा था प्रशासन
गुरुवार को ग्राम सभा दुर्जनपुर और हनुमानगंज की कोटे की दो दुकानों के आवंटन के लिए पंचायत भवन पर खुली बैठक चल रही थी। इसमें बैरिया के एसडीएम, सीओ और बीडीओ भी मौजूद थे। ऐहतियात के तौर पर पर पुलिस फोर्स भी मौजूद थी। दुर्जनपुर की दुकान के लिए विवाद चल रहा था। प्रशासन ने दावेदारों के बीच मतदान करवा कर कोटा आवंटन करने का फैसला लिया था।

लाठी-डंडे लेकर आपस में भिड़ गए दोनों पक्ष
बताया जा रहा है कि एक पक्ष के पास आधार कार्ड और पहचान पत्र मौजूद था, लेकिन दूसरे पक्ष के पास कोई आईडी प्रूफ नहीं था। इसी मामले को लेकर दोनों पक्षों में बहस शुरू हो गई। दोनों तरफ के लोग लाठी-डंडे के साथ ही ईट-पत्थर लेकर एक-दूसरे पर पिल पड़े। इसी बीच, भाजपा नेता धीरेंद्र प्रताप सिंह उफ डब्लू ने फायरिंग शुरू कर दी। गोली जयप्रकाश उर्फ गामा पाल नामक युवक को लगी, जिसकी बाद में मौत हो गई।

धीरेंद्र और जयप्रकाश में चल रहा था विवाद
सूत्रों के अनुसार, दुर्जनपुर गांव में कोटे की दुकान को लेकर भाजपा नेता धीरेंद्र प्रताप सिंह और जयप्रकाश पाल के बीच विवाद चल रहा था। इस मामले में इलाके के एसडीएम और सीओ भी विवाद सुलझाने के लिए गांव की बैठक में पहुंचे थे। बलिया के एसपी देवेंद्र नाथ ने बताया कि दो पक्षों के बीच विवाद के बाद फायरिंग की घटना हुई, जिसमें एक व्‍यक्ति की मौत हो गई है। पूरे मामले की जांच की जा रही है।

Related posts

पश्चिम रेलवे ने राजस्व में 5000 करोड़ का माइलस्टोन किया पार

Girish Chandra

नकली रेमडेसिविर इन्जेक्शन बेचने वाले दो कारोबारियों की सम्पत्तियां कुर्क

Prem Chand

आर्यन केस: एनसीबी के पंच की मौत की जांच करेंगे डीजीपी

Prem Chand

बीजेपी नेता की पत्नी को बचाने पर नपे एडीजी और पुलिस अधिकारी

Amit Kumar

एफएटीएफ की ग्रे लिस्ट में बना रहेगा पाकिस्तान

samacharprahari

जम्मू के पुंछ सेक्टर में गोलाबारी, बारामुला में आईईडी बरामद

samacharprahari