ताज़ा खबर
Otherताज़ा खबरलाइफस्टाइलसंपादकीय

ये जो खबरें हैं ना…. 11वीं किश्त

सरकार की जेब हल्की योजना शुरू, लाभ उठाएं….

खुशखबरी….!!!

पिछले सात-आठ साल से सरकार ने जेब हल्की योजना शुरू की है। अंधभगत जनता की भारी मांग पर महान सरकार ने यह योजना शुरू की थी। इसी योजना के तहत, एक बार फिर से रसोई गैस की कीमत 50 रुपये बढ़ा दी गई है। अब गैस सिलेंडर केवल ₹818.00 की मामूली रकम में मिलेगा। अरे हां, जनता की ही मांग पर महान निजाम ने पेट्रोल को ₹101 तक पहुंचा दिया है, जबकि डीजल के दाम भी ₹85 तक पहुंच गए हैं। जनता जनार्दन काफी समय से इस तरह की मांग कर रहे थे।

बता दें कि अंधभगतों की इस बनिया सरकार में किसानों की आमदनी दोगुनी, मजदूरों की चार गुनी और छोटे व्यापारियों की आमदनी में बेतहाशा वृद्धि हो रही है। जनता जनार्दन यह दुःख बर्दास्त नहीं कर पा रहे थे, और परेशान थे। मजे की बात यह भी है कि अंधभगत लोग अपनी आमदनी संभाल ही नहीं पा रहे थे। इसलिए उनकी जेब का बोझ हल्का करने की भारी भरकम योजना को साकार करने का बीड़ा चौकीदार ने उठाया था।

अंधभगत जनता की मांग पर ही चौकीदार ने अनर्थशास्त्रियों से विचार-विमर्श किया। उसके बाद ही जेब हल्की योजना की रूपरेखा बनाई गई। हालांकि 2014 से ही इस योजना को शुरू कर दिया गया था, लेकिन अंधभगतों की टोली खुश नहीं थी। उनकी मांग थी कि हर महीने निजाम जेब हल्की योजना का लाभ दे। इससे जनता जनार्दन बोझ से मुक्त होंगे। हालांकि इस योजना का विरोध करने वाले कम नहीं है। लेकिन महान बनिया निजाम ने इसके लिए टुकडा-टुकडा गैंग व सवाल पूछनेवालों को देशद्रोही करार देने का फैसला किया है। निजाम ने निवेदन किया है कि अंधभगत मास्क लगाए रहें, मुंह बंद रखें और जेब हल्की योजना का लाभ लें।

Related posts

सरकारी बाबू अब दफ्तरों में फोन उठाने पर ‘हेलो’ के बजाय ‘वंदे मातरम’ कहेंगे

samacharprahari

नवी मुंबई में सेक्स रैकेट का पर्दाफाश, नाबालिग लड़की है सरगना

samacharprahari

इटावा में एक साथ चार शावकों की मौत से मचा हड़कंप, सफारी प्रबंधन जांच में जुटा

Prem Chand

पिछले चार महीनों में गईं करीब दो करोड़ नौकरियां, अब अर्थव्यवस्था का सच नहीं छुप नहीं सकता: राहुल गांधी

samacharprahari

‘इकॉनमी ऑल इज वेल’, फिर भी आर्थिक पैकेज की जरूरत!

samacharprahari

इंग्लैंड-अफ्रीका के साथ त्रिकोणीय श्रृंखला की उम्मीद बढ़ी

samacharprahari