ताज़ा खबर
Otherताज़ा खबरलाइफस्टाइलसंपादकीय

ये जो खबरें हैं ना…. 11वीं किश्त

सरकार की जेब हल्की योजना शुरू, लाभ उठाएं….

खुशखबरी….!!!

पिछले सात-आठ साल से सरकार ने जेब हल्की योजना शुरू की है। अंधभगत जनता की भारी मांग पर महान सरकार ने यह योजना शुरू की थी। इसी योजना के तहत, एक बार फिर से रसोई गैस की कीमत 50 रुपये बढ़ा दी गई है। अब गैस सिलेंडर केवल ₹818.00 की मामूली रकम में मिलेगा। अरे हां, जनता की ही मांग पर महान निजाम ने पेट्रोल को ₹101 तक पहुंचा दिया है, जबकि डीजल के दाम भी ₹85 तक पहुंच गए हैं। जनता जनार्दन काफी समय से इस तरह की मांग कर रहे थे।

बता दें कि अंधभगतों की इस बनिया सरकार में किसानों की आमदनी दोगुनी, मजदूरों की चार गुनी और छोटे व्यापारियों की आमदनी में बेतहाशा वृद्धि हो रही है। जनता जनार्दन यह दुःख बर्दास्त नहीं कर पा रहे थे, और परेशान थे। मजे की बात यह भी है कि अंधभगत लोग अपनी आमदनी संभाल ही नहीं पा रहे थे। इसलिए उनकी जेब का बोझ हल्का करने की भारी भरकम योजना को साकार करने का बीड़ा चौकीदार ने उठाया था।

अंधभगत जनता की मांग पर ही चौकीदार ने अनर्थशास्त्रियों से विचार-विमर्श किया। उसके बाद ही जेब हल्की योजना की रूपरेखा बनाई गई। हालांकि 2014 से ही इस योजना को शुरू कर दिया गया था, लेकिन अंधभगतों की टोली खुश नहीं थी। उनकी मांग थी कि हर महीने निजाम जेब हल्की योजना का लाभ दे। इससे जनता जनार्दन बोझ से मुक्त होंगे। हालांकि इस योजना का विरोध करने वाले कम नहीं है। लेकिन महान बनिया निजाम ने इसके लिए टुकडा-टुकडा गैंग व सवाल पूछनेवालों को देशद्रोही करार देने का फैसला किया है। निजाम ने निवेदन किया है कि अंधभगत मास्क लगाए रहें, मुंह बंद रखें और जेब हल्की योजना का लाभ लें।

Related posts

Heavy rains lash Delhi, traffic snarls in some areas

Admin

चुनावी बॉन्ड्स पर हमारा विज्ञापन छापने को अखबार तैयार नहीं : कांग्रेस

samacharprahari

भारत ने कहा- केयर्न टैक्स विवाद में मध्यस्थता स्वीकार नहीं

samacharprahari

सेंसेक्स की शीर्ष सात कंपनियों की हैसियत में 1.32 लाख करोड़ रुपये की गिरावट

samacharprahari

गाजा की तरफ से हुए हमलों में दो लोगों की मौत

samacharprahari

मंदिर पूजन नहीं, लॉकडाउन से हो रहे आर्थिक नुकसान पर ध्‍यान देना जरुरी : शरद पवार

Prem Chand