ताज़ा खबर
OtherPoliticsTop 10ताज़ा खबरभारतराज्य

बाबरी के आरोपियों के बयान के लिए वीडियो कांफ्रेंस की सुविधा नहीं

लखनऊ। सीबीआई की विशेष अदालत ने बाबरी विध्वंस मामले के 10 आरोपियों, लालकृष्ण आडवाणी, कल्याण सिंह, महंत नृत्य गोपाल दास सहित अन्य लोगों का बयान दर्ज करने के लिए वीडियो कांफ्रेंस की व्यवस्था नहीं करने पर प्रशासन को फटकार लगाई। मंगलवार को अदालत ने राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) के प्रति नाराजगी जताई।

एनआईसी को दिया था निर्देश
विशेष न्यायाधीश एस. के. यादव ने अपने आदेश में कहा कि अदालत ने एनआईसी को निर्देश दिया था कि दस आरोपियों के घर वीडियों लिंक की व्यवस्था करें, लेकिन अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है। अदालत 24 जून तक इंतजार करेगी अगर तब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी तो एनआईसी को फिर से चिटठी लिखी जायेगी। अदालत ने एनआईसी के निदेशक को चिट्टी लिखकर उनसे दस अभियुक्तों के बयान वीडियो कांफेंस के जरिए दर्ज कराने की व्यवस्था करने का निर्देश दिया था। अदालत ने 18 जून को पूरे मामले से उप्र सरकार के प्रमुख सचि न्याय को भी अवगत करा दिया था।

तकनीकी व्यवस्था नहीं थी
बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने मंगलवार को पंद्रहवे अभियुक्त धर्मदास का बयान दर्ज किया। वह अपने वकील अवधेश कुमार एवं एस. के. शर्मा के साथ अदालत में पेश हुए थे। अदालत ने उनसे लगभग 1050 सवाल पूंछे जिसके उन्होंने जवाब दिये। उन्होंने विध्वंस में या उसके लिए कथित रूप से किए गए षडयंत्र में संलिप्तता से इंकार किया। मंगलवार को इस मामले के अन्य अभियुक्त महंत नृत्य गोपाल दास का वीडियो कांफ्रेस के जरिये बयान दर्ज हेाना था, लेकिन तकनीकी व्यवस्था नहीं हो पाने के कारण उनका बयान दर्ज नहीं हो सका।

Related posts

एसबीआई ने लॉन्च की वीडियो आधारित कस्‍टमर आइडेंटिफिकेशन प्रोसेस

samacharprahari

केंद्र सरकार के विभिन्न विभागों में 8.72 लाख पद रिक्त

samacharprahari

जीडीपी में गिरावट की नारायणमूर्ति की आंशका पर राहुल का तंज: ‘मोदी है तो मुमकिन है’

samacharprahari

दिल्ली में GRAP-4 लागू, 50 ℅ कर्मचारी घर से करेंगे काम

Prem Chand

भाजपा ‘देश तोड़ने’ को आतुर है : श्रीनिवास

Prem Chand

सचिन वाजे को 25 मार्च तक एनआईए की हिरासत में भेजा गया

Prem Chand