ताज़ा खबर
PoliticsTop 10ताज़ा खबरराज्य

असम में बाढ़ से जनजीवन प्रभावित, 81 लोगों की मौत

गुवाहाटी।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम में बाढ़ के कारण पैदा हुए हालात से निपटने के लिए राज्य सरकार को हरसंभव मदद मुहैया कराने का आश्वासन दिया। इस बाढ़ के कारण इस साल अब तक 81 लोगों की मौत हो चुकी है। उन्होंने कोविड-19 संबंधी स्थिति और ऑयल इंडिया के बागजान गैस कुएं में आग बुझाने के जारी प्रयासों की भी जानकारी ली।

 

बाढ़ की समीक्षा

प्रधानमंत्री ने रविवार को असम में बाढ की स्थिति की समीक्षा की। उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल से बात की। इस दौरान बाढ, कोविड महामारी और बाघजन तेल कुएं में आग सहित विभिन्‍न मुद्दों पर चर्चा हुई। मुख्‍यमंत्री ने प्रधानमंत्री को मौजूदा स्थिति और राज्‍य सरकार के विभिन्‍न उपायों की जानकारी दी। प्रधानमंत्री ने स्थिति से निपटने के लिए असम को हर संभव सहायता का आश्‍वासन दिया। मुख्यमंत्री कार्यालय के एक अधिकारी ने बताया कि सोनोवाल ने लोगों के सामने आ रही समस्याओं से निपटने के लिए राज्य में अब तक उठाए गए कदमों के बारे में मोदी को सूचित किया।।

 

27 लाख लोग प्रभावित
असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने रविवार सुबह अपने बुलिटेन में बताया कि इस वर्ष बाढ़ और भूस्खलन से राज्य में 107 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें से 81 लोगों की मौत बाढ़ संबंधी घटनाओं और 26 लोगों की मौत भूस्खलनों के कारण हुई। असम के 33 जिलों में से 26 जिलों में 27 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और कई स्थानों पर मकान, फसलें, सड़क एवं पुल तबाह हो गए। राहत कार्य जोर-शोर से जारी है। कांजीरंगा राष्‍ट्रीय वन्‍यजीव अभ्‍यारण्‍य का 85 प्रतिशत हिस्‍सा बाढ में डूबा है। अब तक एक सौ 34 वन्‍य जीवों को बचाया गया है।

 

कोरोना से निबटने की चुनौती

बाढ़ से जूझ रहे असम में कोरोना वायरस का संक्रमण भी फैल रहा है। असम में कोरोना वायरस संक्रमण के 22,981 मामले सामने आ चुके है। इनमें से केवल गुवाहाटी शहर में 10,503 मामले सामने आए हैं। राज्य में संक्रमण के कारण 53 लोगों की मौत हो चुकी है। वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए 22 जुलाई से लोगों के एक जिले से दूसरे जिले में आने – जाने पर रोक लगा दी गई है। यह रोक अगले आदेश तक जारी रहेगी। राज्‍य के प्रमुख सचिव कुमार संजय कृष्‍ण ने बताया कि केवल चिकित्‍सा और अंतिम संस्‍कार जैसी आपातकालीन स्थिति में ही आवागमन की अनुमति होगी। उन्होंने बताया कि इसके लिए संबंधित जिला अधिकारी से लिखित अनुमति लेनी पड़ेगी। प्रमुख सचिव ने कहा कि इस बीच, सामान का परिवहन जारी रहेगा। हमारे संवाददाता ने खबर दी है कि गुवाहाटी समेत कामरूप महानगर जिले में अनलॉक-वन आज शाम सात बजे से दो अगस्‍त तक विभिन्‍न रियायतों के साथ लागू हो जाएगा।

Related posts

ये जो खबरें हैं ना….2

samacharprahari

आर.एन यादव को रायगढ़ एनसीपी जिला उपाध्यक्ष की कमान

samacharprahari

चिप वाला ई-पासपोर्ट से फर्जीवाड़ा थमेगाः जयशंकर

samacharprahari

सरकारें कोरोना को लेकर गंभीर नहीं

samacharprahari

स्विस बैंक में 80 वर्षीय महिला के जमा हैं 196 करोड़ रुपए, केस दर्ज

samacharprahari

पहली बार दिखी ब्रह्मांड की रंगीन तस्वीर, अब उलझे रहस्यों से उठेगा पर्दा

samacharprahari