ताज़ा खबर
OtherPoliticsTop 10ताज़ा खबरभारतराज्य

राज्यपाल को विमान से उतरना पड़ा, सरकार ने नहीं दी यात्रा की अनुमति

मुंबई। महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और उद्धव ठाकरे सरकार के बीच चल रहा गतिरोध और बढ़ सकता है। दरअसल, राज्य सरकार की ओर से सरकारी विमान से यात्रा करने की मंजूरी नहीं मिलने से राज्यपाल को उस विमान से उतरना पड़ा। इसके बाद उन्हें निजी विमान से यात्रा करनी पड़ी है। राज्यपाल देहरादून की यात्रा पर जा रहे थे, उस समय ये वाकया हुआ है।
महाराष्ट्र के गवर्नर हाउस ने बताया कि गुरुवार को जब राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी मुंबई हवाई अड्डे पर पहुंचे और सरकार के विमान में सवार हुए, तो उन्हें सूचित किया गया कि उन्हें विमान के इस्तेमाल की अनुमति नहीं मिली है। इसके बाद तत्काल एक कमर्शियल विमान का टिकट बुक किया गया और वह देहरादून के लिए रवाना हो गए। राज्यपाल कार्यालय ने बताया कि यात्रा की तैयारी के लिए, राज्यपाल के सचिवालय ने महाराष्ट्र सरकार को लिखा था कि 2 फरवरी 2021 को राज्यपाल को सरकारी विमान के इस्तेमाल की अनुमति दी जाए। मुख्यमंत्री के कार्यालय को भी इसकी सूचना दी गई थी।

“माफी मांगे मुख्यमंत्री ठाकरे”
बीजेपी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इस मामले पर कहा कि यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। राज्यपाल केवल एक व्यक्ति नहीं है, बल्कि एक संवैधानिक पद है। यह घटना राज्य के लिए एक काला अध्याय है। केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा कि राज्य सरकार का यह रवैया बहुत गलत है। राज्यपाल को सरकारी विमान का उपयोग करने का अधिकार है। यह राज्यपाल का अपमान है। सीएम को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए। राज्य के उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा कि इस घटना के बारे में उन्हें पूरी जानकारी नहीं है, वे मंत्रालय में घटना की पूरी जानकारी लेने के बाद ही कोई प्रतिक्रिया देंगे।

Related posts

सरकार को मुंह चिढ़ा रहे हैं नकली नोट

samacharprahari

इजराइली दूतावास ब्लास्टः जांच टीम को घटनास्थल से मिली एनर्जी ड्रिंक कैन

samacharprahari

15 करोड़ बच्चे एवं युवा देश की औपचारिक शिक्षा व्यवस्था से बाहर

samacharprahari

सरकार ने अदालत में कहा – आईपीएस अधिकारी परमबीर का पता नहीं चल रहा

samacharprahari

होली बहुरंगी त्योहार है, लेकिन कुछ लोगों को केवल एक रंग पसंद: अखिलेश यादव

Prem Chand

प्रधानमंत्री मोदी की विवादित टिप्पणी, कांग्रेस ने दिया तीखा जवाब

Prem Chand