ताज़ा खबर
Top 10ताज़ा खबरभारतराज्य

अवैध टेलीफोन एक्सचेंज मामले में चीन कनेक्शन

चीन की कंपनियों से खरीदे गए थे उपकरण

मुंबई। क्राइम ब्रांच ने पिछले महीने अवैध वीओआईपी (वॉयस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल) का भंडाफोड़ किया था। इस फर्जी एक्सचेंज को संचालित करने में कुछ चीनी कंपनियों की संलिप्तता सामने आई है। क्राइम ब्रांच की ओर से बताया गया कि 7 महीने से अधिक समय तक एक्सचेंज चलाया गया। जम्मू-कश्मीर के इलाकों में यहां से लाखों कॉल की गई है। क्राइम ब्रांच ने संदेह जताया है कि इनमें से कुछ कॉल सैन्य प्रतिष्ठानों को भी की गई थी।

कॉल को किया जाता था डायवर्ट
पूछताछ के दौरान आरोपी ने खुलासा किया है कि तीन चीनी कंपनियां इस एक्सचेंज को चलाने में शामिल थीं। कॉल को रूट करने और एक्सचेंज को पैसे कमाने में मदद की। सारे उपकरण चीन से खरीदा गया था। सैन्य खुफिया एजेंसी से प्राप्त एक जानकारी के आधार पर मुंबई क्राइम ब्रांच और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने संयुक्त रूप से 30 मई को टेलीफोन एक्चेंज पर छापा मारा था।
इससे पहले फरवरी में मिलिट्री इंटेलिजेंस और जम्मू-कश्मीर पुलिस की एंटी टेरर विंग के साथ एक संयुक्त अभियान में मुंबई क्राइम ब्रांच ने केरल और उत्तर प्रदेश में भी टेलीफोन एक्सचेंजों से जुड़े एक बड़े नेटवर्क का भंडाफोड़ किया था। इस दौरान मुंबई क्राइम ब्रांच ने एक शख्स को गिरफ्तार किया था, जिससे पता चला कि आरोपी का कथित हैंडलर एक चीनी नागरिक भी था।

Related posts

लॉक डाउन में रेव पार्टी करने पर 11 विदेशी गिरफ्तार

samacharprahari

रियल एस्टेट कंपनी पर छापा, 300 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी का पर्दाफाश

samacharprahari

गगनयान के लिए पहली मानव रेटेड परीक्षण उड़ान इस साल संभव नहीं

samacharprahari

मिताली ने पूरे किए 10,000 अंतरराष्ट्रीय रन

samacharprahari

एल एंड टी ने इलेक्ट्रिकल एंड ऑटोमेशन बिजनेस में विनिवेश किया

samacharprahari

नंदूरबार में गांधीधाम-पुरी एक्सप्रेस के कोच में लगी आग

Amit Kumar