ताज़ा खबर
OtherTop 10ताज़ा खबरदुनियाभारत

हवाला रैकेट में गिरफ्तार चीनी नागरिक चार्ली पेंग जुटा रहा था दलाई लामा की जानकारी: सूत्र

  • नई दिल्ली। मनी लॉन्ड्रिंग केस में गिरफ्तार चीनी नागरिक चार्ली पेंग को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। जांच एजेंसियों को पता चला है कि चार्ली पेंग दिल्ली में कुछ तिब्बती भिझुओं के संपर्क में था। उसने दलाई लामा और उनके सहयोगियों के बारे में जानकारी इकट्ठा करने के लिए उन्हें कथित रूप से रिश्वत भी दी थी।

वी चैट से करता था संपर्क
आयकर विभाग से जुड़े सूत्रों ने बताया कि दिल्ली स्थित मजनू का टीला के पास रहने वाले कुछ लोगों को 2 लाख से 3 लाख के बीच रिश्वत दी गई है। सूत्रों के मुताबिक फिलहाल उन लोगों की पहचान की जा रही है। शुरुआती जांच में पता चला है कि चार्ली पेंग इस काम में लोगों से चीनी ऐप वी चैट के जरिये संपर्क करता था। मजनू का टीला में बौद्ध धर्मावलंबियों की बड़ी आबादी रहती है, इसलिए यह शक पुख्ता नजर आ रहा है कि चार्ली पेंग ने दलाई लामा की जानकारी जुटाने के लिए लोगों से संपर्क किया था।

किए अहम खुलासे
सूत्रों का यह भी कहना है कि चार्ली पेंग उर्फ लुओ सांग ने पूछताछ के दौरान कई अहम खुलासे किए हैं। पेंग ने पूछताछ के दौरान अधिकारियों को बताया कि वह साल 2014 में पहली बार भारत आया था। भारत आने के बाद उसने दिल्ली में नूडल्स का कारोबार शुरू किया। नूडल्स के कारोबार के जरिए वह आगे बढ़ा और हवाला रैकेट तक जा पहुंचा।

दो साल पहले गिरफ्तारी
पेंग को साल 2018 में पहली बार दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया था। हालांकि कुछ दिनों बाद ही पेंग पुलिस की गिरफ्त से छूट गया। पूछताछ में पेंग ने बताया कि वह साल 2009 में 6 तिब्बतियों के साथ पैदल ही नेपाल गया था। साल 2009 से साल 2014 तक वह काठमांडू के पास गेलुग मठ में रहा। काठमांडू में पेंग ने औषधि और जड़ी-बूटियों का काम शुरू किया था। इसी दौरान उसे कुछ लोगों ने कारोबार के सिलसिले में भारत जाने का सजेशन दिया। इसके बाद पेंग काठमांडू से दिल्ली आ गया और मजनू का टीला के पास बसे इलाके पंजाबी बस्ती में रहा। नेपाल मठ और वहां के दस्तावेजों के आधार पर उसने तिब्बती आई कार्ड हासिल कर लिया था।

Related posts

लगाए पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे, पांच गिरफ्तार

Prem Chand

भारत ग्लोबल होम प्राइस इंडेक्स में फिसला, 56वें स्थान पर पहुंचा

samacharprahari

‘पेंडोरा पेपर्स’ ने सैकड़ों भारतीयों के विदेशी वित्तीय लेन-देन का पर्दाफाश किया

samacharprahari

रैन्समवेयर के नाम पर एक हजार अरब डॉलर का भुगतान

samacharprahari

हरिद्वार फर्जी कोविड जांच मामले में ईडी का छापा

samacharprahari

नदी में डूबने से दो संदिग्ध आतंकियों की मौत

samacharprahari