ताज़ा खबर
OtherPoliticsTop 10भारतमूवीराज्य

सुशांत केस मामला: भाजपा, संदीप सिंह और ड्रग माफिया के बीच का रिश्ता क्या कहलाता है: कांग्रेस

मुंबई। फ़िल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजूपत सुसाइड केस को लेकर कांग्रेस पार्टी ने एक बार फिर से भाजपा की भूमिका पर सवाल उठाए हैं। कांग्रेस ने पीएम मोदी की बायोपिक बनानेवाले संदीप सिंह, बॉलीवुड, भाजपा नेताओं और ड्रग्स नेक्सेस के बीच साठगांठ की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की है।

कांग्रेस पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता सचिन सावंत ने भाजपा को कटघरे में खड़ा करते हुए सवाल किया है कि भाजपा, संदीप सिंह और ड्रग माफिया के बीच का रिश्ता क्या कहलाता है। उन्होंने आरोप लगाया कि सुशांत सुसाइड केस में भाजपा नेताओं के भी संबंध हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और गृहमंत्री अनिल देशमुख से ड्रग डीलिंग मामले में संदीप सिंह, भाजपा और बॉलीवुड कनेक्शन की सीबीआई जांच कराने की मांग की है।
गृहमंत्री देशमुख ने मिली शिकायतों के आधार पर जांच के संकेत दिए हैं। हालांकि पूर्व मुख्यमंत्री व विधानसभा में विपक्ष नेता देवेंद्र फडणवीस और भाजपा प्रदेश प्रवक्ता केशव उपाध्ये ने कांग्रेस प्रवक्ता के सभी आरोपों को खारिज किया है।

सावंत के मुताबिक पीएम मोदी की बायोपिक बनाने वाले संदीप सिंह का नाम ड्रग्स के मामले में जोड़ा जा रहा है। संदीप सिंह, भाजपा नेताओं और ड्रग माफिया के बीच संबंध सामने आ रहे हैं। इसके अलावा 14 जून को सुशांत सिंह की आत्महत्या के कुछ दिनों बाद ही संदीप सिंह ने एक भाजपा नेता से मुलाकात की और एक ब्रीफिंग दी। वह नेता कौन है? अगर इसकी जांच की जाती है, तो यह स्पष्ट हो जाएगा कि संदीप सिंह और भाजपा नेताओं के बीच क्या संबंध है और ये रिश्ता क्या कहलाता है।

सावंत ने कहा कि संदीप सिंह की कंपनी की वित्तीय बैलेंस शीट के अनुसार उनकी कंपनी को वर्ष 2017 में 66 लाख रुपये का घाटा हुआ था। वर्ष 2018 में 61 लाख रुपये का लाभ और वर्ष 2019 में 4 लाख रुपये का घाटा हुआ था। गुजरात के मुख्यमंत्री रूपानी ने वाइब्रेंट गुजरात कार्यक्रम में घाटे में चल रही कंपनी के साथ 177 करोड़ रुपये का अनुबंध किस आधार पर किया था। यह कंपनी पैसा कहां से लानेवाली थी। क्या मोदी की बायोपिक के बदले में यह सौदा हुआ था? भाजपा संदीप सिंह के लिए इतनी दयालु क्यों थी? इन सवालों का जवाब मिलना चाहिए।

सावंत ने सवाल उठाया कि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि संदीप सिंह ने 53 कॉल भाजपा कार्यालय में किसके लिए किया था। यह भी आश्चर्य की बात है कि जिस व्यक्ति पर यौन उत्पीड़न का आरोप है, उसकी कंपनी के साथ बिना पुष्टि किए अनुबंध कैसे किया जाता है। सबकी गहन व निष्पक्ष जांच की जाए तो चौंकानेवाली बातें सामने आएंगी।

Related posts

कफील खान का भाषण हिंसा भड़काने वाला नहीं, एकता का संदेश: हाई कोर्ट

samacharprahari

ईडी ने अटैच की 4109 करोड़ की संपत्ति

samacharprahari

गढ़चिरौली में नक्सलियों का पुलिस पर हमला

Prem Chand

चीन से साइबर हमले बढ़े

samacharprahari

एनआईए के फर्जी डीसीपी ने कारोबारी को ठगा

Prem Chand

इटारसी में पकड़ा गया पत्नी का हत्यारा

Vinay