ताज़ा खबर
Otherबिज़नेस

‘लॉकडाउन’ से इकोनॉमी पर होगा असर

सीआईआई के सर्वे से खुलासा, लेबर की कमी से औद्योगिक प्रोडक्शन में आएगी कमी

मुंबई। कोरोना वायर संक्रमण की नई लहर से देश में आंशिक रूप से ‘लॉकडाउन’ लगाए जाने की आशंकाओं के बीच उद्योग जगत ने उत्पादन में बड़े पैमाने पर कमा आने की संभावना जताई है। उद्योग का मानना है कि लॉकडाउन से लेबर और सप्लाई चेन प्रभावित होगी, जिससे औद्योगिक उत्पादन पर बड़ा असर पड़ेगा।

उद्योग मंडल सीआईआई की ओर से कंपनियों के मुख्य कार्यपालक अधिकारियों (सीईओ) के बीच कराए गए एक सर्वे से यह खुलासा हुआ है कि लेबर और सप्लाई चेन प्रभावित होने से औद्योगिक उत्पादन घटेगा। सर्वे में शामिल सीईओ का कहना है कि आंशिक रूप से लॉकडाउन लगाए जाने से श्रमिकों के साथ-साथ वस्तुओं की आवाजाही प्रभावित हो सकती है। इससे औद्योगिक उत्पादन पर प्रतिकूल असर पड़ सकता है। लगभग 56 प्रतिशत सीईओ ने कहा कि वस्तुओं की आवाजाही प्रभावित होने से 50 प्रतिशत तक प्रोडक्शन का नुकसान हो सकता है। करीब 67 प्रतिशत सीईओ ने कहा कि पाबंदियों के प्रभाव को कम करने के लिए टीकाकरण मुहिम तेज करनी चाहिए।

Related posts

अधिकांश अर्थव्यवस्थाओं में सुधार की उम्मीद धीमी: मूडीज

samacharprahari

चक्रवात ‘सितरंग’ मचा रहा तबाही,बांग्लादेश में सात लोगों की मौत

Prem Chand

यादव सभा पटियाला की ओर से मनाया जाएगा कृष्ण जन्माष्टमी

Prem Chand

JEE-NEET के छात्रों के लिए रेलवे चलाएगी 46 अतिरिक्त लोकल ट्रेनें

samacharprahari

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने सेविंग अकाउंट पर मिलने वाले ब्याज दरों में किया बदलाव

Prem Chand