ताज़ा खबर
OtherPoliticsTop 10भारतराज्य

यूपी पंचायत चुनाव का आरक्षण जारी

कई जिलों की ग्रामीण राजनीति के समीकरण बदल गए

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के लिए जिला पंचायत, क्षेत्र पंचायत और ग्राम प्रधान के पदों के लिए आरक्षण जारी कर दिया गया है। रोटेशन के बाद कई जिलों की ग्रामीण राजनीति के समीकरण बदल गए हैं। राजधानी लखनऊ में जिला पंचायत अध्यक्ष का पद दलित महिला के लिए आरक्षित होगा। पिछली बार यह सीट ओबीसी के लिए आरक्षित थी। लखनऊ मंडल में उन्नाव छोड़कर जिला पंचायत अध्यक्ष के सभी पद आरक्षित श्रेणी में होंगे। जौनपुर में यह सीट महिला वर्ग के लिए आरक्षित हुई है। सीएम के संसदीय क्षेत्र गोरखपुर में जिला पंचायत अध्यक्ष का पद इस बार अनारक्षित श्रेणी में है, जबकि पीएम का संसदीय क्षेत्र वाराणसी रोटेशन के बाद ओबीसी महिला के लिए आरक्षित हो गया है।

अपर मुख्य सचिव पंचायती राज मनोज कुमार सिंह ने बताया कि पंचायतों के पुनर्गठन के बाद 60.59 लाख की आबादी ग्रामीण क्षेत्र से नगरीय क्षेत्र में शिफ्ट हो गई है। इसका असर पदों पर पड़ा है। जिला पंचायत सदस्य के 69, क्षेत्र पंचायत सदस्य के 1,946 और ग्राम प्रधान के 880 पद घटे हैं। वहीं, 5 क्षेत्र पंचायतें बढ़ी हैं।

राजधानी में सर्वाधिक दलित आबादी
एससी वर्ग की सबसे अधिक आबादी लखनऊ में है। इसके बाद कौशांबी, सीतापुर, उन्नाव, हरदोई, रायबरेली, झांसी, औरैया, जालौन और बाराबंकी का नंबर है। वहीं, सबसे अधिक ओबीसी आबादी फिरोजाबाद में है। कोई भी जिला पंचायत अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित नहीं हुई है, हालांकि, 9 क्षेत्र पंचायतें जरूर आरक्षित हुई हैं। लखनऊ जिले में 494 ग्राम प्रधान चुने जाएंगे।

इनमें 123 एससी (44 एससी महिला), 131 ओबीसी (45 ओबीसी महिला) और 161 पद सामान्य वर्ग के होंगे। 79 पद महिलाओं के लिए आरक्षित होंगे। आरक्षण तय होने के बाद 2 और 3 मार्च को डीएम जिलों में सूची जारी करेंगे। इस पर 8 मार्च तक आपत्तियां प्राप्त की जाएंगी। आपत्तियों के निस्तारण के बाद 13 और 14 मार्च को अंतिम सूची का प्रकाशन होगा। वहीं, 15 मार्च को शासन को आरक्षण की सूची उपलब्ध करवानी होगी।

जिलेवार आरक्षण
एससी महिला : लखनऊ, शामली, बागपत, कौशाम्बी,सीतापुर और हरदोई।

एससी : कानपुर नगर, औरैया, चित्रकूट, महोबा, झांसी ,जालौन, बाराबंकी, लखीमपुर खीरी, रायबरेली, मीरजापुर।

ओबीसी महिला : संभल, हापुड़, एटा, बरेली, कुशीनगर, वाराणसी, बदायूं।

ओबीसी : आजमगढ़, बलिया, इटावा, फर्रुखाबाद, बांदा, ललितपुर, अंबेडकर नगर ,पीलीभीत ,बस्ती, संतकबीरनगर ,चंदौली, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर।

महिला : कासगंज, फिरोजाबाद, मैनपुरी, मऊ, प्रतापगढ़ ,कन्नौज, हमीरपुर, बहराइच, अमेठी, गाजीपुर, जौनपुर, सोनभद्र।

अनारक्षित : अलीगढ़, हाथरस, आगरा, मथुरा, प्रयागराज, फतेहपुर, कानपुर देहात, गोरखपुर, देवरिया, महाराजगंज, गोंडा, बलरामपुर, श्रावस्ती, अयोध्या, सुल्तानपुर, शाहजहांपुर, सिद्धार्थनगर, मुरादाबाद, बिजनौर, रामपुर, अमरोहा, मेरठ, बुलंदशहर, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, उन्नाव, भदोही।

Related posts

अदालत से फ्यूचर रिटेल को अगली सुनवाई तक राहत

samacharprahari

शिवसेना-बीजेपी के रिश्तों की चौड़ी हुई दरार

samacharprahari

11 राज्यों में 76 जगहों पर CBI की छापेमारी

samacharprahari

गोंडा एसिड अटैक: आरोपी की मां बोली- घर से उठाकर पुलिस ने मारी गोली

samacharprahari

जुलाई में 32 लाख लोग बेरोजगार

samacharprahari

वर्ष 2021 में 126 बाघों की मौत हुई

samacharprahari