ताज़ा खबर
OtherTop 10ताज़ा खबरराज्य

महामारी के कारण जैन मंदिरों को खोलने की अनुमति नहीं दे सकते: महाराष्ट्र सरकार

मुंबई। महाराष्ट्र सरकार ने बम्बई उच्च न्यायालय को बताया कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर पर्यूषण पर्व पर वह शहर में जैन मंदिरों को भक्तों के लिए खोलने की अनुमति नहीं दे सकती है। राज्य सरकार ने कहा कि इस साल 15 से 23 अगस्त तक मंदिरों को खोलना, जैसा कि जैन समुदाय द्वारा अनुरोध किया गया है, वायरस के प्रसार के खतरे को और बढ़ाएगा।
राज्य सरकार की वकील पूर्णिमा कंथारिया ने न्यायमूर्ति एस. जे. कथावाला और न्यायमूर्ति माधव जमदार की पीठ के समक्ष एक लिखित जवाब पेश करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने मंदिरों को नहीं खोलने का फैसला किया है क्योंकि इससे कोरोना वायरस के संक्रमण का और प्रसार हो सकता है, जिससे लोगों की जान जा सकती है। बॉम्बे हाईकोर्ट की पीठ जैन समुदाय का प्रतिनिधित्व करने वाले सदस्यों की ओर से दायर दो याचिकाओं पर सुनवाई कर रही थी।
याचिकाकर्ताओं ने आठ दिवसीय पर्यूषण पर्व के दौरान अपने मंदिरों में प्रवेश करने की अनुमति मांगी थी। एक याचिकाकर्ता के वकील प्रकाश शाह ने गुरुवार को अदालत से आग्रह किया कि राज्य को एक समय में मंदिरों में सिर्फ “10 से 20” लोगों को अनुमति देने पर विचार करने के लिए कहा जाए। वकील शाह ने कहा, ‘‘मंदिर का ट्रस्ट यह सुनिश्चित करेगा कि 20 से अधिक लोग प्रवेश न करें।’’ अदालत ने हालांकि कहा कि वह अभी राज्य सरकार के फैसले में हस्तक्षेप नहीं करना चाहती। पीठ ने कहा, ‘‘हम सभी समुदायों की परवाह करते हैं। हम आपकी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं।’’

 

Related posts

यूक्रेन युद्ध के बीच रूस ने शुरू किया महाभ्यास

samacharprahari

फ्रांस में जासूसी मामले में आइकिया पर लगा 12 लाख डॉलर का जुर्माना

samacharprahari

मकान मालिक को ठगने, किराया नहीं देने पर दंपति के खिलाफ मामला दर्ज

Prem Chand

कोविड-19 के मरीजों के नामों का खुलासा क्यों किया जाए : हाई कोर्ट

samacharprahari

कोविड संकट से वैश्विक विमानन उद्योग को 201 अरब डॉलर का नुकसान होगा: आईएटीए

samacharprahari

अरब सागर में MiG-29K ट्रेनर विमान क्रैश

samacharprahari