ताज़ा खबर
OtherPoliticsTop 10भारतराज्य

बलरामपुर गैंगरेप: पीड़ित परिवार से मिले अपर मुख्य सचिव और एडीजी

डैमेज कंट्रोल में जुटी उत्तर प्रदेश सरकार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार में अपर मुख्य सचिव (गृह) और एडीजी (कानून-व्यवस्था) ने बलरामपुर पहुंचकर पीड़िता के परिजनों से मुलाकात की है। हाथरस गैंगरेप मामले में सियासी घमासान के बीच बीजेपी और योगी सरकार अब छवि को डैमेज कंट्रोल में जुटी है। पीड़िता के परिजनों से मिलने के बाद अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बड़ी कार्रवाई के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस केस की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगी।

हाथरस गैंगरेप मामले पर चल रही सियासी जंग के बीच योगी सरकार के अधिकारी बलरामपुर गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से मुलाकात करने पहुंचे। इस मामले में रविवार को उत्तर प्रदेश के एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार और अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने बलरामपुर पहुंचकर पीड़िता के परिजनों से मुलाकात की है। हाथरस गैंगरेप मामले में सियासी घमासान के बीच बीजेपी और योगी सरकार अब अपनी छवि को सुधारने के लिए डैमेज कंट्रोल में जुटी है। मुलाकात के दौरान डीआईजी, डीएम और एसपी भी मौजूद थे।

इससे पहले शनिवार को परिजनों का आक्रोश बढ़ता देख पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट पीड़िता परिवार को सौंप दी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है कि पीड़िता की मौत अत्यधिक रक्तस्राव और सदमें के कारण हुई है। रिपोर्ट से यह बात भी साबित होती है कि पीड़िता के साथ दरिंदगी की गई।मृतका के शरीर पर दस चोट के निशान पाये गये। यह चोट के निशान शरीर के कई संवेदनशील स्थानों पर मिले हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पीड़िता की छाती, जांघ और कोहनी समेत कई संवेदनशील अंगों पर जख्म के निशान हैं।


बता दें कि इस वीभत्स वारदात के बाद परिजनों की तहरीर पर केस दर्ज किया गया और पुलिस अब तक चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है, जबकि कुछ अन्य लोगों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की जा रही है।

Related posts

गढ़चिरौली में नक्सलियों का पुलिस पर हमला

Prem Chand

मारवाड़ी स्कूल में चिकित्सा शिविर

Amit Kumar

16 व्यापारियों का 20 किलो सोना और करोड़ों का कैश लेकर सर्राफा गायब

samacharprahari

ईनामी बदमाश गिरफ्तार

samacharprahari

सरकार ने बीपीसीएल के निजीकरण की योजना छोड़ी

samacharprahari

आरटीओ नंबर से परेशानी, लड़की को स्कूटी चलाना मुश्किल!

samacharprahari