ताज़ा खबर
OtherTop 10ताज़ा खबरबिज़नेसभारतराज्य

जीरो बैलेंस होते ही एसबीआई ने पांच साल में वसूले 300 करोड़

प्रहरी संवाददाता, मुंबई।
भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई), पंजाब नेशनल बैंक सहित कई बैंक गरीब खाताधारकों के जीरो बैलेंस होने पर जमकर चार्ज वसूल रहे हैं। मूल बचत बैंक जमा खातों (बीएसबीडीए) पर भी कुछ सेवाओं के लिए अत्यधिक शुल्क की वसूली कर रहे हैं। यह खुलासा बॉम्बे आईआईटी की रिपोर्ट से हुआ है। रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2015-20 के दौरान एसबीआई ने 12 करोड़ बीएसबीडी खाताधारकों पर सेवा शुल्क लगाकर 300 करोड़ रुपये से अधिक रकम जुटाई है।

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान-बंबई (आईआईटी-बंबई) के प्रोफेसर आशीष दास ने कहा कि बीएसबीडीए पर कुछ बैंकों द्वारा रिजर्व बैंक के नियमनों का प्रणालीगत उल्लंघन करने के मामले में एसबीआई का नाम सबसे पहले आता है। वर्ष 2015-20 के दौरान एसबीआई ने 12 करोड़ बीएसबीडी खाताधारकों पर सेवा शुल्क लगाकर 300 करोड़ रुपये से अधिक रकम जुटाई है। एसबीआई ने वर्ष 2018-19 में ही 72 करोड़ रुपये जुटाए हैं, जबकि वर्ष 2019-20 में 158 करोड़ रुपये जुटाए गए। देश के दूसरे सबसे बड़े सरकारी बैंक पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने भी अपने 3.9 करोड़ बीएसबीडी खाताधारकों से 9.9 करोड़ रुपये जुटाए हैं।

Related posts

Iran says coronavirus kills another 97, pushing death toll to 611

Admin

फर्जी दस्तावेज से पाई थी नौकरी, अब केस दर्ज

samacharprahari

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में सतर्कता जागरूकता सप्ताह का आयोजन

Amit Kumar

किराना और मेडिकल दुकानों पर भी मिलेगा पैन कार्ड

samacharprahari

आईपीसी 498-A में बिना जांच गिरफ्तारी की तो खैर नहीं…

samacharprahari

भारत जोड़ो यात्रा को छोड़ ईडी के सामने पेश हुए शिवकुमार

Amit Kumar