ताज़ा खबर
OtherTop 10राज्य

20 साल पहले मरे हुए व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर

मध्य प्रदेश में पुलिस का कारनामा

छतरपुर। मध्यप्रदेश में पुलिस का अजीबोगरीब कारनामा सामने आया है। पुलिस ने एक ऐसे व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया है, जिसकी मौत 20 साल पहले हो चुकी है। दरअसल मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले के पुलिस रिकॉर्ड में जून 2020 के दौरान हुई एक घटना के बाद इस मृत व्यक्ति को अभियुक्त बनाया गया है।


मामला खजूराहो से 18 किलोमीटर दूर झमटुली गांव का है। इस गांव के रहनेवाले हरदास अहिरवार पर आईपीसी की धारा 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाना) और 506 ( हत्या का खतरा) के तहत मामला दर्ज किया गया। इस मामले में पुलिस ने बताया की ग्रामीणों की ओर से दी गई लिखित शिकायत के आधार पर हरदास अहिरवार के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया।

दरअसल पूरा मामला झमटुली में हुए एक कथित छेड़छाड़ के मामले से जुड़ा है। इस मामले में पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू किया तो स्थानीय सेलोन पुलिस चौकी पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। थाना में मौजूद भीड़ ने 50 लोगों को आरोपी बनाते हुए दोषियों के खिलाफ एफआईआर करने की मांग करने लगी। इसके बाद पुलिस ने हरदास अहिरवार समेत पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया।

जब पुलिस अधिकारी जांच के लिए झमटुली गांव पहुंचे और अहिरवार के परिजनों से उसके बारे में पूछताछ की तो अहिरवार की विधवा पत्नी लल्ली और बेटे बिस्ला अहिरवार को देख दंग रह गए। दोनों ने बताया कि अहिरवार की मौत बीस वर्ष पहले हो चुकी थी। सेलोन चौकी के प्रभारी मोहन सिंह ने परिजनों को बताया कि 200 से 250 लोगों ने थाने का घेराव किया था। उन्होंने 50 नामजद अभियुक्तों के नाम दिये थे, इसमें से एक नाम हरदास अहिरवार का था, तो अहिरवार के परिजन भी दंग रह गए।

खजूराहो के उप पुलिस अधिकारी मनमोहन सिंह बघेल ने कहा कि फिलहाल प्राथमिकी से कोई भी नाम नहीं हटाया गया है। हरदास का परिवार जो बता रहा है वह जांच का विषय है इसकी जांच की जा रही है।

Related posts

22000 करोड़ का घोटाला: दो बिल्डर गिरफ्तार

samacharprahari

फर्जी शिक्षक मामला: एसटीएफ खंगालेगी पैन नंबर की सूची

samacharprahari

गैंगरेप केस में MLA विजय मिश्रा का पोता गिरफ्तार

samacharprahari

भारत की शर्मनाक हार, ऑस्ट्रेलिया ने 8 विकेट से जीता एडिलेड टेस्ट

samacharprahari

लद्दाख सीमा पर स्थिति गंभीर और नाजुक :​ ​​नरवणे ​​

samacharprahari

महाराष्ट्र सरकार के मेट्रो कार शेड प्रोजेक्ट पर केंद्र का रोड़ा

Girish Chandra