ताज़ा खबर
राज्य

मुंबई धमाकों का आरोपी गजेंद्र सिंह चढ़ा यूपी एसटीएफ के हत्थे

नई दिल्ली।  उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की टीम ने बुधवार देर रात 1993 के मुंबई बम धमाकों के दोषी अबू सलेम और गैंगस्टर खान मुबारक के करीबी सहयोगी गजेन्द्र सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। वह फिरौती व अवैध वसूली से मिली रकम को प्रॉपर्टी में निवेश करता था। उस पर जबरन वसूली के साथ ही कई अन्य अपराध भी दर्ज थे। उसकी गिरफ्तारी यूपी पुलिस की बड़ी कामयाबी मानी जा रही है।

बता दें कि यूपी एसटीफ की नोएडा यूनिट और कोतवाली 20 पुलिस ने मुंबई सीरियल ब्लास्ट के आरोपी जेल में बंद अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम और खान मुबारक के सहयोगी गजेंद्र सिंह को गिरफ्तार किया है। वह खान मुबारक और अबू सलेम के पैसों को प्रॉपर्टी में निवेश करता था।  उस पर अवैध वसूल करने के भी आरोप हैं। नोएडा के सेक्टर 20 निवासी गजेंद्र सिंह पहले भी दो केस में फरार चल रहा था। यूपी एसटीएफ नोएडा यूनिट को सूचना मिली थी कि गजेंद्र सेक्टर-20 आने वाला है। सूचना के आधार पर पुलिस और एसटीएफ ने छापेमारी कर उसे दबोच लिया।

यूपी एसटीएफ के एसपी राजकुमार मिश्रा ने बताया कि यह आरोपी डी कंपनी गैंग का भय दिखाकर व्यापारी व बिजनेसमैन से पैसे हड़प लेता था। साल 2014 में गजेंद्र ने दिल्ली के एक बिज़नेसमैन से प्रॉपर्टी के नाम पर एक करोड़ 80 लाख रुपये हड़प लिए थे। बाद में प्रॉपर्टी भी उसे नहीं दी। जब बिजनेसमैन ने पैस वापस मांगे तो उसने खान मुबारक के शूटर्स से सेक्टर-18 में बिजनेसमैन पर फ़ायरिंग करा दी। इस हमले के लिए गजेंद्र ने खान मुबारक को 10 लाख रुपये दिए थे।

सेक्टर-20 पुलिस ने गजेंद्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। यूपी एसटीएफ की टीम आरोपी से पूछताछ कर रही है। बता दें कि 2005 में सलेम को पुर्तगाल से प्रत्यर्पित किया गया था। उसके खिलाफ मुंबई ब्लास्ट समेत अवैध वसूली, हत्या, हत्या प्रयास आदि आरोपों में अलग-अलग जगह मुकदमा दर्ज किया गया। फिलहाल अबु सलेम नवी मुंबई की तलोजा जेल में बंद है।

Related posts

सांगली में एक ही परिवार के 9 लोगों का शव मिला

Prem Chand

पैक्ड फूड पर 5 फीसदी जीएसटी का विरोध, कैट ने सौंपा ज्ञापन

Aditya Kumar

पुलिस स्टेशन के सामने नाबालिग की हत्या

Prem Chand

खुदरा मुद्रास्फीति जुलाई महीने में बढ़कर 6.93 प्रतिशत पहुंची

samacharprahari

दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे से यातायात सुगम होगा : गडकरी

Prem Chand

दूरसंचार ग्राहकों पर पड़ेगी AGR की मार! कंपनियां बढ़ा सकती हैं मोबाइल टैरिफ 

samacharprahari