ताज़ा खबर
बिज़नेस

पीटर इंग्लैंड ने एंटीवायरल कलेक्शन लॉन्च किया

मुंबई। आदित्य बिरला फैशन एंड रिटेल लिमिटेड के सबसे बड़े मेन्सवियर ब्रांड, पीटर इंग्लैंड जल्द ही फैशनेबल एवं स्टाइलिश कलेक्शन को बाज़ार में उतारने जा रहा है जो वायरस और बैक्टीरिया से सुरक्षा प्रदान करने में सक्षम है। बिल्कुल अनोखे HeiQ वायरोब्लॉक® फैब्रिक टेक्नोलॉजी को भारत में लाने के लिए ब्रांड ने स्विट्जरलैंड की कंपनी, HeiQ के साथ साझेदारी की है। यह कंपनी टेक्सटाइल इनोवेशन के क्षेत्र में पूरी दुनिया में अग्रणी है। पीटर इंग्लैंड की ओर से लॉन्च किए जाने वाले इस नए कलेक्शन में वर्क वियर, लाउंज वियर और फेस मास्क शामिल होंगे, जो नए ज़माने के ग्राहकों की लाइफ़स्टाइल से जुड़ी सभी जरूरतों को पूरा करेंगे। एंटीवायरल तकनीक के अलावा, पीटर इंग्लैंड ने स्वतंत्र रूप से ड्रॉपलेट्स की रोकथाम करने की तकनीक एवं स्मार्ट पट्टियों के साथ विभिन्न प्रकार के मास्क उपलब्ध कराए हैं।
पीटर इंग्लैंड के सीओओ मनीष सिंघई ने कहा, “फिलहाल पूरी दुनिया जिस तरह के हालात का सामना कर रही है, उसे देखते हुए सुरक्षा और हिफाज़त की अहमियत अब समझ मे आने लगी है। आज के उपभोक्ताओं की प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष जरूरतों को पूरा करने के लिए अभिनव उत्पादों को प्रस्तुत करना, पीटर इंग्लैंड की समृद्ध एवं मजबूत विरासत का हिस्सा रहा है। स्विट्जरलैंड कि यह कंपनी टेक्सटाइल इनोवेशन के क्षेत्र में पूरी दुनिया में सबसे आगे है। इस साझेदारी के माध्यम से, हम वायरस एवं बैक्टीरिया से सुरक्षा प्रदान करने वाले अपने अपैरल और मास्क की रेंज को लॉन्च कर रहे हैं।
इस मौके पर HeiQ ग्रुप के को-फाउंडर एवं सीईओ, कार्लो सेंटोन्ज़ ने कहा, “पीटर इंग्लैंड की टीम ने HeiQ वायरोब्लॉक टेक्नोलॉजी को जल्द-से-जल्द अपनाने तथा इसे अपने फैशन मास्क और अपैरल्स, दोनों क्षेत्रों में शामिल करने के लिए बड़ी तेजी से काम किया है।”

Related posts

लीफ फिनटेक के लकी ड्रॉ विजेताओं की घोषणा

Vinay

आरबीआई के फैसले से होम लोन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा: हीरानंदानी

samacharprahari

एयू शॉपिंग का फेस्टिव धमाका, खरीदारी पर ज़्यादा बचत

Amit Kumar

छह साल में 15 लाख करोड़ के मुद्रा योजना लोन मंजूर 

samacharprahari

यस बैंक : ईडी ने कॉक्स एंड किंग्स समूह के पूर्व सीएफओ और आंतरिक ऑडिटर को गिरफ्तार किया

samacharprahari

ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ता एनपीए, बेरोजगारी और मुद्रास्फीति चिंता का मुद्दाः रिपोर्ट

samacharprahari