ताज़ा खबर
OtherTop 10ताज़ा खबरबिज़नेसभारतराज्य

एचडीआईएल के प्रवर्तकों की 77 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क

ईडी ने मनी लांड्रिंग जांच के मामले में की कार्रवाई

मुंबई। एचडीआईएल के प्रवर्तक राकेश वाधवान और सारंग वाधवान की संलिप्तता वाले एक कथित बैंक धोखाधड़ी से जुड़ी मनी लांड्रिंग जांच के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 77 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की है।
ईडी ने कहा है कि सनलाइट हाउसिंग डेवलपमेंट प्राइवेट लिमिटेड (एसएचडीपीएल) के खिलाफ कुर्की का अस्थायी आदेश जारी किया गया है। यह आदेश मनी लांड्रिंग रोकथाम कानून (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत जारी किया गया है।
ईडी ने कहा है कि कुर्क की गई संपत्ति पांच वाणिज्यिक संपत्तियों के रूप में हैं। ये संपत्तियां अंधेरी (पूर्व) में कालेडोनिया बिल्डिंग, मुंबई में 32,300 वर्ग फुट क्षेत्र और 3,960 वर्गफुट (प्रत्येक) के दो आवासीय फ्लैट के रूप में हैं। ये फ्लैट मुंबई के अंधेरी (पश्चिम) स्थित अटलांटिस बिल्डिंग में स्थित हैं। इसके अलावा 1.40 करोड़ रुपये की नकद राशि भी इसमें शामिल है। ईडी का यह मामला यस बैंक द्वारा मंजूर किये गये 200 करोड़ रुपये के कर्ज की हेराफेरी से जुड़ा हुआ है। यह कर्ज एक कंपनी मैक स्टार मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड को मंजूर किया गया था। कर्ज के लिये जो वजह बताई गई थी वह फर्जी थी।
जांच एजेंसी ने कहा कि राकेश और सारंग वाधवान ने इन संपत्तियों को बहुमत शेयरधारकों की सहमति के बिना अवैध रूप से बेचकर मैक स्टार मार्केटिंग प्रा. लि. के साथ धोखाधड़ी की है। मैक स्टार मार्केटिंग प्रा. लि. में डीई शॉ समूह की 83.96 प्रतिशत हिस्सेदारी है। इन संपत्तियों की बिक्री के लिये काई धन नहीं लिया गया जिससे कि मैक स्टार को नुकसान पहुंचा। ईडी ने इससे पहले इस मामले में कुछ अन्य संपत्तियों को भी कुर्क किया था। ईडी की ताजा कार्रवाई से कुर्क की गई संपत्ति का कुल मूल्य 147.49 करोड़ रुपये हो गया है।

Related posts

शिवसेना-बीजेपी के रिश्तों की चौड़ी हुई दरार

samacharprahari

ठगी की नई तरकीब, मेडोला गिरफ्तार

samacharprahari

24 घंटे में 45720 नए पॉजिटिव केस, 1129 लोगों की मौत

samacharprahari

जासूसी कांड में वायुसेना के पूर्व अधिकारी की जमानत अर्जी खारिज

Prem Chand

इश्यू प्राइज से कम कीमत पर लिस्ट होने पर नुकसान!

samacharprahari

ऐसी जमींदार है कांग्रेस, जिसके लिए अब हवेली बचाए रखना भी है मुश्किल; शरद पवार

Amit Kumar