ताज़ा खबर
OtherTop 10ताज़ा खबरभारतराज्य

मेंटल हेल्थकेयर एक्ट की वैधता की जांच करेगा सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट मेंटल हेल्थकेयर एक्ट की धारा 115 की वैधता की जांच करेगा। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर केंद्र सरकार को नोटिस जारी कर जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है। चीफ जस्टिस एस.ए. बोबडे की अध्यक्षता वाली बेंच ने कहा कि आत्महत्या के लिए लोगो द्वारा जानवरों के बाड़े में कूद कर आत्महत्या करना निंदनीय है। जब आईपीसी के तहत आत्महत्या की कोशिश को अपराध माना गया है, तब क्या नया कानून बनाकर ऐसा करने वालों को मुकदमे से बचाया जा सकता है? यह सवाल सुप्रीम कोर्ट ने उठाया है।

मेंटल हेल्थकेयर एक्ट की धारा 115 में कहा गया है कि आत्महत्या की कोशिश करने वाले के खिलाफ मुकदमा नहीं चलाया जा सकता, जबकि भारतीय दंड संहिता की धारा 309 के तहत आत्महत्या की कोशिश को दंडनीय अपराध माना गया है। दरअसल, ये मामला कोर्ट के सामने तब आया जब एक याचिका में हाथी के बाड़े में एक व्यक्ति के कूदने के बाद व्यक्ति के घायल होने पर हाथी जंजीर से बांध कर पीटा गया था। अदालत ने कहा कि कोर्ट कैसे किसी को जानवरों के बाड़े में जाने से रोक सकती है।

Related posts

थोक मुद्रास्फीति नौ माह के उच्च स्तर पर

samacharprahari

एनसीबी और मुंबई पुलिस ने समीर वानखेड़े के खिलाफ जांच शुरू की

Prem Chand

सिंधिया, दिग्गी पहुंचे राज्यसभा

samacharprahari

एमजी हेक्टर सीवीटी ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन ऑप्शन में लॉन्च

Prem Chand

फडणवीस का ठाकरे सरकार पर निशाना, कहा- इनके कितने भी कपड़े उतारो, निर्लज्जों पर असर नहीं

samacharprahari

30 घंटे तक जिंदगी और मौत से जूझने के बाद रेप पीड़ित ने दम तोड़ा

Amit Kumar