ताज़ा खबर
Otherराज्य

गुजरात में कर्ज के बोझ से 24 घंटे में तीन व्यापारियों ने लगाया मौत को गले

अहमदाबाद । कोरोना महामारी और लॉकडाउन ने गुजरात में व्यापारी वर्ग की नींद उड़ा दी है। बिजनस ठप होने और कर्ज न चुका पाने की स्थिति में पिछले 24 घंटों में तीन व्यापारियों ने मौत को गले लगा लिया। इनमें से एक अहमदाबाद और दो राजकोट के हैं।

प्रह्लादनगर स्थित सफल परिवेश सोसायटी में केमिकल बिजनसमैन सुशील टिबरेवाल ने 12 मंजिला इमारत की छत से कूदकर जान दे दी। अपने सुइसाइड नोट में लिखा कि एक मनी लेंडर के दबाव ने उन्हें ऐसा कदम उठाने को मजबूर किया। वहीं लॉकडाउन और इसके प्रभाव के चलते व्यापारी कर्ज का पैसा नहीं जुटा पाए थे। ऐसे में बार-बार धमकी मिलने पर 68 साल के व्यापारी ने अपनी जान दे दी। आनंदनगर पुलिस ने ऐक्सिडेंटल डेथ का मामला दर्ज किया है।

इसके अलावा राजकोट में दो अलग-अलग घटनाओं में दो व्यापारियों ने खुदकुशी कर ली। एक छोटी फैक्ट्री के मालिक जयंतीभाई भलानी और ट्रांसपोर्ट बिजनस करने वाले धर्मेंद्र सिंह कर्ज न चुका पाने के चलते अपनी जान दे दी। धर्मेंद्र सिंह ने अपने ऑफिस में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। महाराष्ट्र में सामान ट्रांसपोर्ट करते थे लेकिन वहां कोई खरीदार नहीं बचा था। धर्मेंद्र लोन के इंस्टॉलमेंट चुकाने के चक्कर में काफी परेशान थे। साथ ही डीजल के दाम भी बढ़ रहे थे।’ वहीं 51 साल के जयंतीभाई ने गांव में एक कुएं में कूदकर जान दे दी। अपने सुइसाइड नोट में उन्होंने लिखा कि उनकी जमा-पूंजी खत्म हो चुकी थी और लोन चुकाने के लिए पैसे नहीं बचे थे इसलिए वे अपनी जान दे रहे हैं।

Related posts

ईडी ने धोखाधड़ी के आरोप में गोयल दंपती को किया गिरफ्तार

samacharprahari

गुजरात में 500 डॉक्टरों ने एक साथ ली बीजेपी की सदस्यता

Prem Chand

भारत जोड़ो यात्रा को छोड़ ईडी के सामने पेश हुए शिवकुमार

Amit Kumar

भाजपा सरकार की गलत नीतियों से देश 50 साल पीछे चला गयाः कांग्रेस

samacharprahari

जौहर यूनिवर्सिटी मामले में आजम को झटका, कोर्ट ने जमानत की खारिज

Amit Kumar

बगदाद में सैन्य ठिकाने पर रॉकेट हमला

samacharprahari