ताज़ा खबर
OtherTop 10खेलताज़ा खबरभारतराज्यलाइफस्टाइल

कलाइयों के जादूगर चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप

समाचार प्रहरी। कलाइयों के लेफ्टआर्म स्पिनर्स को चाइनामैन गेंदबाज कहा जाता है। बाएं हाथ के ये गेंदबाज लेग स्पिन में माहिर होते हैं, जो दाएं हाथ के बल्लेबाज के लिए गेंद को अपनी टर्न से अंदर की ओर खेलने पर मजबूर करते हैं। मौजूदा क्रिकेट में चिन के खिलाड़ियों का ज्यादा वर्चस्व नहीं हैं, लेकिन एक चीनी मूल के कलाइयों के जादूगर लेफ्ट आर्म स्पिनर्स एलिस अचोंग को ही क्रिकेट का पहला चाइनामैन गेंदबाज कहा जाता है। चाइनामैन नाम इंग्लैंड के बल्लेबाज वॉल्टर रॉबिन्स ने दिया था।

फिलहाल भारत में चाइनमैन बोलिंग के बल पर दुनिया भर के बल्लेबाजों के लिए खौफ बन रहे हैं कुलदीप यादव। लेकिन भारतीय महिला टीम में भी चाइनामैन गेंदबाज थी, नाम है प्रीति डिमरी। बांए हाथ की कलाइयों से स्पिन बॉलिंग कराने वाले स्पिनर बहुत ही कम हैं। करीब 150 साल के इंटरनेशनल क्रिकेट के इतिहास में केवल 30 गेंदबाज ही ऐसे हुए हैं, जिन्हें चाइनामैन बॉलर कहा जाता है। लेकिन सभी को शोहरत नहीं मिली।

तो आइए जानते हैं, रिस्ट स्पिनर्स को चाइनामैन क्यों कहा जाता है। इसकी कहानी भी बड़ी रोचक है। चाइनामैन का अर्थ है- चीन का व्यक्ति। जी हां! भले ही मौजूदा इंटरनेशनल क्रिकेट में चीन का कोई प्रभावशाली खिलाड़ी नहीं उभर सका, लेकिन क्रिकेट को पहला चाइनामैन गेंदबाज इसी देश से मिला था। इनका नाम था एलिस अचोंग।

 

साल 1933 में इंग्लैंड की टीम टेस्ट सीरीज के लिए वेस्ट इंडीज गई। ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर वेस्ट इंडीज ने चीनी मूल के लेफ्टआर्म गेंदबाज एलिस अचोंग को अपनी प्लेइंग XI में मौका दिया। इस स्पिनर की बोलिंग के अजीब ऐक्शन को नाम दिया गया चाइनामैन।

इंग्लैंड के बल्लेबाज वॉल्टर रॉबिन्स अचोंग की गेंद पर आउट हो गए। रॉबिन्स उनकी उल्टी स्पिन पर हैरान होकर गुस्से में पैवेलियन भुनभुनाते हुए लौट रहे थे।उनके मुंह से जो शब्द निकला, वह था- फैंसी बींग डन बाई ब्लडी चाइनामैन (चीन का आदमी अजीब बोलिंग कर रहा है।)। तभी से लेफ्ट आर्म रिस्ट स्पिनर को नाम मिला चाइनामैन बॉलर।

कुलदीप यादव भारत के पहले चाइनामैन गेंदबाज नहीं हैं। कुलदीप से पहले साल 2006 में भारतीय महिला क्रिकेट टीम को पहली चाइनामैन गेंदबाज यानी स्लो लेफ्ट ऑर्म ऑर्थोडॉक्स गेंदबाज प्रीति डिमरी उर्फ डॉली के रूप में मिली थीं। लेकिन डिमरी को 2006-2010 तक केवल 2 ही टेस्ट और 23 वनडे में खेलने का मौका मिला और कुल 33 विकेट अपने नाम किए। दो टेस्ट की चार पारियों में 5 विकेट और वन डे की 23 पारियों में 28 विकेट लिए थे।

 

भारत के पहले चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव अपनी गेंदबाजी से दुनिया के बल्लेबाजों में खौफ पैदा कर रहे हैं। कुलदीप यादव अब तक 6 टेस्ट, 60 वनडे और 21 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं। इंटरनेशनल क्रिकट में कुलदीप का परफॉर्मेंस लाजवाब है। वह अभी तक टेस्ट में 24, वनडे में 104 और टी-20 इंटरनेशनल में 39 शिकार अपने नाम कर चुके हैं। घरेलू टी-20 में 119 विकेट के साथ ही फर्स्ट क्लास क्रिकेट में कुलदीप ने एक शतक भी बनाया है।

Related posts

अडाणी-हिंडनबर्ग मामला: SC ने कहा, SEBI पर संदेह करने का कोई कारण नहीं

samacharprahari

रिकवरी एजेंटों ने निजी बस को किया अगवा

samacharprahari

दो साल में 4837 बैंक शाखाओं का मिट गया वजूद

Prem Chand

स्टेशन मास्टर से झगड़े के बाद गेटमैन ने रोक दी ट्रेन

Prem Chand

महाराष्ट्र को अनलॉक करने में नहीं करेंगे जल्दबाजी : मुख्यमंत्री

samacharprahari

हरियाणा में स्कूल बस पलटने से 6 बच्चों की गई जान, शराब के नशे में था ड्राइवर

samacharprahari