ताज़ा खबर
OtherTop 10ताज़ा खबरभारतराज्य

सैनिकों की सैलरी से भी गए पीएम केअर्स में पैसे, सुरक्षा बलों ने दिए 203 करोड़

समाचार प्रहरी, मुंबई।

कोरोना के खिलाफ जंग में देश की मदद के लिए आगे रहनेवाले सैन्य कर्मियों ने भी अपनी सैलरी का एक हिस्सा पीएम-केयर्स फंड में दान किया है। बड़े कॉरपोरेट, पीएसयू, बैंक या अमीर लोगों के इस फंड में दान करने की खबरें पहले आ चुकी हैं, लेकिन आरटीआई से खुलासा हुआ है कि सैन्य कर्मियों ने भी इस फंड में 200 करोड़ रुपये से ज्यादा का दान किया है।

आरटीआई से मिला डोनेशन का ब्योरा
आरटीआई से मिली जानकारी के अनुसार, अप्रैल से अ​क्टूबर के बीच भारतीय वायुसेना के जवानों, अधिकारियों ने पीएम केअर्स फंड में 29.18 करोड़ रुपये का दान किया है। नेवी के जवानों, अधिकारियों ने इस दौरान 12.41 करोड़ रुपये का दान किया है। आरटीआई के तहत एयरफोर्स और नेवी ने इस डोनेशन का ब्योरा दिया है, लेकिन आर्मी ने डोनेशन के बारे में जानकारी देने से इनकार किया है। सीआरपीएफ के जवानों के वेतन भी काटे गए हैं।

आर्मी ने किया 158 करोड़ का दान
हालांकि, इंडियन आर्मी के एडीजी पीआई (अतिरिक्त महानिदेशक जन सूचना) ने 15 मई को ट्वीट कर इसके बारे में जानकारी दी थी। उन्होंने बताया था, ‘भारतीय सेना कर्मियों ने स्वैच्छिक रूप से अप्रैल 2020 की अपनी एक दिन की सैलरी यानी कुल 157.71 करोड़ रुपये की राशि कोविड-19 के खिलाफ जंग में देश की मदद के लिए पीएम केअर्स फंड में दी है।’
इस तरह सेना के तीनों अंगों की ओर से पीएम केअर्स फंड में कुल 203.67 करोड़ रुपये का योगदान दिया है। इसके पहले 29 मार्च को रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा था, ‘रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रक्षा मंत्रालय के कर्मियों के एक दिन के वेतन को पीएम केअर्स फंड में देने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।’ अनुमान है कि रक्षा मंत्रालय, सेना के तीनों अंगों, डिफेंस पीएसयू, सीआरपीएफ के सभी कर्मचारियों की ओर से पीएम केअर्स फंड में 500 करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम दान की गई है।

Related posts

जम्मू कश्मीर में सेना का जवान लापता

samacharprahari

डीपफेक वीडियो पर सरकार की तिरछी नजर, करेगी कड़ी कार्रवाई

samacharprahari

डॉ आंबेडकर आवास में तोड़फोड़, घटना की निंदा

samacharprahari

ईडी ने जब्त की लाल महल की 7.47 करोड़ की संपत्ति

Prem Chand

एडटेक कंपनी ने 600 कर्मचारियों को निकाला

Prem Chand

सरकार ने दिए संकेत- एलएसी को लेकर बंद कमरे में हो सकती है विपक्षी नेताओं के साथ बातचीत

samacharprahari