ताज़ा खबर
OtherPoliticsTop 10टेकताज़ा खबरबिज़नेसभारतराज्य

रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भरता बढ़ाने के लिए सरकार ने एफडीआई का फैसला किया: गोयल

नई दिल्ली। वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि रक्षा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेश निवेश (एफडीआई) के नियमों को आसान बनाने के सरकार के फैसले से रक्षा उत्पादन में आत्मनिर्भरता को बढ़ावा मिलेगा और इस दौरान राष्ट्रीय हितों तथा सुरक्षा को सबसे ऊपर रखा जाएगा।

वाणिज्य और उद्योग मंत्री ने कहा कि रक्षा क्षेत्र में विदेशी निवेश को मंजूरी देने से पहले उसकी राष्ट्रीय सुरक्षा के पैमाने पर जांच की जाएगी। सरकार ने कुछ शर्तों के साथ इस क्षेत्र में स्वत: मार्ग के तहत 74 प्रतिशत एफडीआई की इजाजत दी है।

गोयल ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘अब, स्वत: मार्ग से 74 प्रतिशत तक एफडीआई की मंजूरी दी जाती है और 74 प्रतिशत से अधिक की अनुमति सरकारी (मंजूरी) मार्ग से दी जाएगी। इससे कारोबारी सुगमता बढ़ेगी और निवेश, आय तथा रोजगार की वृद्धि में योगदान होगा।’’

मई में वित्त मंत्री का फैसला

उन्होंने कहा कि सरकार के आत्मनिर्भर भारत के नजरिए के अनुरूप राष्ट्रीय हितों और सुरक्षा को सबसे ऊपर रखते हुए किए गए इन संशोधनों से रक्षा उत्पादन में आत्मनिर्भरता बढ़ेगी। इससे पहले, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मई 2020 में स्वत: मार्ग के जरिए रक्षा विनिर्माण में 74 प्रतिशत एफडीआई की अनुमति देने की घोषणा की थी।

आरबीआई को सूचित करना होगा

बता दें कि सरकारी मार्ग के तहत विदेशी निवेशकों को निवेश से पहले संबंधित मंत्रालय या विभाग से अनुमति लेनी होती है, जबकि स्वत: मार्ग में निवेशक को निवेश करने से पहले इस बारे में सिर्फ आरबीआई को सूचित करना होता है।

 

Related posts

महाराष्ट्र में ‘फेसलेस आरटीओ’ शुरू

Prem Chand

भाजपा ‘देश तोड़ने’ को आतुर है : श्रीनिवास

Prem Chand

नौसेना को मिली चौथी स्कॉर्पिन पनडुब्बी वेला

Amit Kumar

अमेरिका का सबसे खतरनाक परमाणु बमवर्षक विमान बी-21 ने भरी पहली उड़ान

samacharprahari

ISRO की अंतरिक्ष में बड़ी छलांग, एक साथ 10 सैटेलाइट लॉन्च

samacharprahari

ग्रहण ने मंगलयान की लील ली जिंदगी

Amit Kumar