ताज़ा खबर
OtherPoliticsTop 10ताज़ा खबरभारतराज्य

मुंबई में फटा ‘100 करोड़ की उगाही’ का लेटर बम

पूर्व पुलिस कमिश्नर ने गृहमंत्री पर लगाए आरोप

प्रहरी संवाददाता, मुंबई

देश के सबसे अमीर उद्योगपति मुकेश अंबानी की इमारत के बाहर जिलेटिन से भरी स्‍कॉर्पियो गाड़ी की बरामदगी के बाद से राजनीतिक व प्रशासनिक घटनाक्रम तेजी से बदल रहे हैं। कुछ दिन पहले मुंबई के पुलिस कमिश्‍नर पद से हटाए गए परमबीर सिंह ने महाराष्‍ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर सनसनीखेज आरोप लगाए हैं। मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र में परमबीर सिंह का कहना है कि इस मामले में सस्‍पेंड किए गए एनकाउंटर स्‍पेशलिस्‍ट सचिन वाझे को देशमुख ने हर महीने 100 करोड़ रुपये जमा करने का टारगेट दिया था। इन आरोपों के बाद महाराष्‍ट्र में सियासी गर्मी बढ़ गई है। भाजपा ने गृह मंत्री से इस्तीफे की मांग की है।

मुख्‍यमंत्री को लिखी चिट्ठी में पूर्व पुलिस कमिश्‍नर ने कहा कि गृह मंत्री देशमुख ने मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर विस्फोटक रखने के आरोपी पुलिसकर्मी सचिन वझे को हर महीने रेस्टोरेंट्स, होटल, बार व अन्य सेक्टर से 100 करोड़ उगाही करने के आदेश दिए थे। मुंबई में 1750 से ज्यादा बार हैं। हालांकि मुख्यमंत्री को भेजे गए पत्र में हस्ताक्षर की पुष्टि नहीं हुई है।

दूसरी ओर, गृह मंत्री देशमुख ने भी अपनी सफाई पेश की है। उन्‍होंने कहा कि वाझे मामले में खुद को कानूनी कार्रवाई से बचाने के लिए परमबीर सिंह झूठा आरोप लगा रहे हैं। देशमुख ने कहा कि मुकेश अंबानी सहित मनसुख हिरेन केस में भी सचिन वाझे की संलिप्‍तता स्‍पष्‍ट हो रही है और जांच की आंच परमबीर सिंह तक भी पहुंच सकती है। बता दें कि सरकार के गठन के बाद उन्होंने कुछ आईएएस व आईपीएस अधिकारियों पर महाविकास आघाड़ी सरकार को बदनाम करने व गिराने के षडयंत्र रचने का सनसनीखेज खुलासा किया था।

Related posts

इटावा में एक साथ चार शावकों की मौत से मचा हड़कंप, सफारी प्रबंधन जांच में जुटा

Prem Chand

जेवर में यमुना एक्सप्रेसवे पर सात गाड़ियां आपस में टकराई, मोदीनगर में भिड़े 20 वाहन

samacharprahari

आईपीएल 2020: करते रहो चाइनीज कंपनियों का बहिष्कार, स्पॉन्सर बनी रहेगी वीवो

samacharprahari

राजस्थान में सियासी हलचल तेज

samacharprahari

पूर्व होम मिनिस्टर के घर-ऑफिस पर सीबीआई का छापा

samacharprahari

सैट से चंदा कोचर को राहत

samacharprahari