ताज़ा खबर
OtherPoliticsTop 10ऑटोटेकताज़ा खबरबिज़नेसभारतराज्य

नौसेना का ‘रोमियो​’​ ​​मार गिराएगा दुश्मन की पनडुब्बी

पायलट और ​​ग्राउंड​​ स्टाफ की एक टीम ​प्रशिक्षण लेने ​जाएगी अमेरिका ​
पहले बैच में तीन ​​एमएच-60 आर सी-हॉक​ ​​​होंगे शामिल

प्रहरी संवाददाता, मुंबई।

भारतीय नौसेना को जल्द ही पनडुब्बी रोधी​​ ​’रोमियो​’​ ​​हेलीकॉप्टर​ से लैस कर दिया जाएगा। प्रशिक्षण लेने के लिए भारतीय नौसेना के पायलटों और ​​ग्राउंड स्टाफ की एक टीम अमेरिका ​जाएगी​​।​ भारत ने पिछले साल नौसेना के लिए ​अमेरिकी विमान निर्माता कंपनी ​लॉकहीड मार्टिन​ से ​एमएच-60 आर ​सी-हॉक​ ​​​​रोमियो​ ​​​​हेलीकॉप्टरों का सौदा किया था​।​​ ​​जून से सितंबर के बीच भारत को पहले बैच में तीन ​हेलीकॉप्टर​ मिल जाएंगे। उससे पहले नौसेना की टीम को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इन ​​हेलीकॉप्टरों​ का इस्तेमाल करने वाला ​भारत पांचवा देश बन ​जाएगा​। ​​​​
बता दें कि भारत​ ने ​14 मई 2020 को​​ ​समुद्री ताकत को बढ़ाने के लिए एमएच-60 आर​ ​​​​​हेलीकॉप्टरों के निर्माण के लिए ​अमेरिकी कंपनी सिकोरस्की-लॉकहीड मार्टिन से​ ​​905 मिलियन डॉलर का सौदा किया था। इसी अनुबंध के मुताबिक, ​​भारतीय नौसेना को पहले बैच में तीन ​​रोमियो हेलीकॉप्टर ​मिलने की उम्मीद है​​। भारत को मिलने वाले यह ​हेलीकॉप्टर​ चौथी पीढ़ी के हैं​​।​ टॉरपीडो और मिसाइलों ​का इस्तेमाल पनडुब्बी रोधी भूमिकाओं में किया जा सकता है।​​​​ कंपनी से 24 ​​​​हेलीकॉप्टरों​ की आपूर्ति होने के बाद भारतीय नौसेना ​की ​हिन्द महासागर​ क्षेत्र में ​ताकत बढ़ जाएगी।​ हिन्द महासागर​ क्षेत्र समुद्री सुरक्षा के दृष्टिकोण से बहुत बड़ा है, इसलिए किसी भी खतरे के खिलाफ महासागर में ​नौसेना की ​गश्त करने ​की क्षमता बढ़ेगी।​ मौजूदा समय में नौसेना ​​समुद्री गश्त और पनडुब्बी रोधी युद्ध के लिए​​ स्वदेशी एचएएल ध्रुव​, ​रूस निर्मित कामोव का-28​ और सिकोरस्की एस-61 सी किंग के मिश्रित बेड़े का संचालन ​करती है​​।​

Related posts

चुनाव खत्म, अब महंगाई का फूटा बम…

samacharprahari

सत्ता में आए, तो किसानों की कर्जमाफी : राहुल

Prem Chand

गणित की जीनियस बनीं विद्या बालन

samacharprahari

रिश्वतखोरी के मामले में अपने सेवानिवृत्त अधिकारी को सीबीआई ने किया गिरफ्तार

Prem Chand

महाजेनको संयंत्र हादसे में दो कर्मियों की मौत

samacharprahari

अदालत का महत्वपूर्ण फैसला; एससी-एसटी का अपराध तभी, जब आरोपी पीड़ित को पहचानता हो : हाई कोर्ट

Prem Chand