ताज़ा खबर
OtherPoliticsTop 10भारतराज्य

जौनपुर में सीएम ने किसान बिल का विरोध करने वालों को घेरा, उपचुनाव के लिए कसी कमर

आठ सीटों पर होने हैं उपचुनाव, विकास का दिखाया सपना

जौनपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जौनपुर पहुंचकर उत्तर प्रदेश की होने वाली आठ सीटों पर उपचुनाव का शंखनाद कर दिया। शनिवार को जिले में पहुंचे सीएम ने भाजपा कार्यकर्ताओं को चुनाव जीतने का मूलमंत्र भी दिया। साथ ही उन्होंने किसान बिल का विरोध करने वालों पर भी निशाना साधा। उन्होंने कार्यकर्ताओं से बूथ पर जीत दर्ज करने को कहा।

कार्यकर्ताओं से संवाद

कुल्हनामऊ स्थित सनबीम स्कूल परिसर में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने बूथ, सेक्टर और मंडल प्रमुखों से संवाद किया। करीब 30 मिनट के संबोधन में जौनपुर के गौरवशाली अतीत का जिक्र करते हुए उन्होंने उज्ज्वल भविष्य के सपने दिखाए। उन्होंने कहा कि विपक्ष को केन्द्र और प्रदेश सरकार का कार्य रास नहीं आ रहा हैं। लोगों के बीच भ्रम फैलाने का काम किया जा रहा है, सही तथ्य को नहीं बताया जा रहा है।

विपक्ष किसान विरोधी है

किसान बिल का विरोध करने वालों को किसान विरोधी बताते हुए सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री ने किसानों की आय दोगुनी करने का जो वादा किया था, यह बिल उसी की एक कड़ी है। यह बिल किसानों को बिचौलियों से मुक्त करेगा। उन्हें अपनी उपज अपने अनुसार फसल बेचने की छूट मिलेगी। विपक्ष इस पूरे बिल पर जनता को बरगला रहा है, लेकिन उनकी मंशा सफल नहीं होने दी जाएगी।

बूथ जीतने का मंत्र

कार्यकर्ताओं को जीत का मंत्र देते हुए सीएम ने कहा कि बूथ जीतने का लक्ष्य लेकर चुनावी समर में उतर जाएं। अगर बूथ जीत गए तो विधानसभा भी जीत जाएंगे। इसके लिए सरकार की सभी लाभार्थी योजनाओं को लेकर घर-घर जाने की अपील की। सरकार हर क्षेत्र में कार्य कर रहीं है।

बहाएंगे विकास की गंगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि जौनपुर पं. दीनदयाल की कर्मभूमि रही है। पूर्ववर्ती सरकारों में यहां का अपेक्षित विकास नहीं हो पाया है। भाजपा सरकार विकास की गंगा बहाने के लिए संकल्पित है। यह किसी जात-पात की सरकार नहीं है। हमारा लक्ष्य सबका विकास और सबका सम्मान करना है।

घर घर जाएंगे कार्यकर्ता

उपचुनाव के लिए कार्यकर्ता कमर कस लें। घर-घर जाकर सरकार की योजनाएं बताएं। अगर कोई पात्र योजना का लाभ पाने से वंचित रह गया है तो उसे लाभ दिलवाने की जिम्मेदारी भी आपकी है। कोरोना संकट काल में हुए कार्यों का जिक्र करते हुए कहा कि संकट काल में जब दुनिया पस्त थी, उन्हें कुछ सूझ नहीं रहा था, तब हमारे प्रधानमंत्री ने मजबूती के साथ इसका सामना किया।

 

Related posts

अजित पवार ने बढ़ाई बीजेपी की टेंशन, कहा- शिंदे गुट के बराबर चाहिए सीटें

samacharprahari

नोटबंदी पर केंद्र की सफाई, कहा- रणनीति का हिस्सा था नोटबंदी का फैसला 

samacharprahari

भाजपा ने कोस्टल रोड प्रोजेक्ट में ‘घोटाले’ का आरोप लगाया

Prem Chand

केनरा बैंक को 428 करोड़ रुपये की चपत

samacharprahari

कुर्सी से नहीं उठी नर्स तो नाराज हो गए माननीय

samacharprahari

662 करोड़ भ्रष्टाचार मामले में कर्नाटक के पूर्व सीएम को नोटिस

Prem Chand