ताज़ा खबर
OtherPoliticsTop 10दुनिया

परमाणु हमले की 75वीं बरसी: नागासाकी में गिराया था फैटमैन

नागरिकों और शहर के मेयर ने की परमाणु हथियारों पर प्रतिबंध की अपील

टोक्यो। जापान के नागासाकी मेंसात दशक पहले अमेरिका ने बमबारी की थी। इस घटना के रविवार को 75 साल पूरे होने पर शहर के मेयर और हमले में जीवित बचे लोगों ने अपने देश समेत विश्वभर के नेताओं से परमाणु हथियारों पर प्रतिबंध लगाने के लिए ठोस कदम उठाने की अपील की है।

बता दें कि अमेरिका के बी-9 बमवर्षक बॉकस्कार ने नौ अगस्त, 1945 को पूर्वाह्न 11 बजकर दो मिनट पर नागासाकी पर 4.5 टन का प्लूटोनियम बम ‘‘फैट मैन’’ गिराया था। हमले के जीवितों समेत अन्य लोगों ने इस दौरान मारे गए 70,000 से अधिक लोगों की याद में रविवार को 11 बजकर दो मिनट पर एक मिनट का मौन धारण किया। कोरोना वायरस के चलते इस कार्यक्रम में कम लोगों को यहां आने की अनुमति थी।

नागासाकी पर हमले से तीन दिन पहले अमेरिका ने हिरोशिमा पर पहला परमाणु बम गिराया था, जिससे यह शहर तबाह हो गया था। इस हमले में 1,40,000 लोगों की मौत हो गई थी। यह दुनियाभर में पहला परमाणु हमला था। जापान ने 15 अगस्त को आत्मसमर्पण कर दिया था, जिससे द्वितीय विश्व युद्ध का अंत हुआ था।

हमले में जीवित बचे कई लोगों को विकिरण के संपर्क में आने के कारण कैंसर या कोई न कोई अन्य बीमारी हो गई और उन्हें भेदभाव का सामना करना पड़ा। नागासाकी के मेयर तोमिहिसा ताउए ने शांति घोषणा में जापान सरकार और सांसदों से अपील की कि वे परमाणु हथियार निषेध संधि पर जल्द हस्ताक्षर करें।उन्होंने कहा कि परमाणु हथियारों का खतरा पहले से कहीं अधिक बढ़ गया है।

बता दें कि जापान ने संधि पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं। उसका कहना है कि वह परमाणु और गैर परमाणु देशों के बीच अंतर पाटने में भूमिका निभाना चाहता है, ताकि वार्ता के लिए उनके पास समान आधार हो।

Related posts

चिप वाला ई-पासपोर्ट से फर्जीवाड़ा थमेगाः जयशंकर

samacharprahari

213 करोड़ की इनपुट टैक्स क्रेडिट धोखाधड़ी

Prem Chand

दिसंबर में मर चुके आरोपी को जनवरी में जमानत

Prem Chand

ईनामी बदमाश गिरफ्तार

samacharprahari

नोएडा में फ्रॉड का खेल: 20 हजार में बैंक अकाउंट किराये पर लेते थे, चीनी नागरिक समेत 5 अरेस्ट

samacharprahari

विधान परिषद चुनावों में INDIA अलांयस को 440 वोल्ट का झटका, महाराष्ट्र में बढ़ा NDA का मनोबल

Prem Chand