ताज़ा खबर
OtherPoliticsTop 10ऑटोटेकताज़ा खबरदुनियाबिज़नेसभारतराज्य

वीवो पर ईडी की नकेल

कर देनदारी से बचने 62 हजार करोड़ रुपये चीन भेजा
नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गुरुवार को कहा कि चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी वीवो की भारतीय इकाई ने कर देनदारी से बचने के लिए अपने कुल कारोबार का लगभग 50 प्रतिशत हिस्सा यानी 62,476 करोड़ रुपये विदेशों में भेज दिए।

प्रवर्तन निदेशालय ने कहा कि वीवो के पूर्व निदेशक बिन लाऊ ने भारत में कई कंपनियां बनाने के बाद वर्ष 2018 में देश छोड़ दिया था। अब इन कंपनियों के वित्तीय ब्योरों पर जांच एजेंसी की नजरें हैं।

केंद्रीय जांच एजेंसी ने कहा कि वीवो इंडिया ने भारत में कर देने से बचने के लिए अपने राजस्व का बड़ा हिस्सा चीन एवं कुछ अन्य देशों में भेज दिया। विदेशों में भेजी गई राशि 62,476 करोड़ रुपये है, जो उसके कारोबार का लगभग आधा हिस्सा है।

ईडी ने कहा कि वीवो मोबाइल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड एवं इसकी 23 संबद्ध कंपनियों के खिलाफ बुधवार को चलाए गए सघन तलाशी अभियान के बाद उनके बैंक खातों में जमा 465 करोड़ रुपये की राशि जब्त की गई है। इसके अलावा 73 लाख रुपये की नकदी और दो किलोग्राम सोने की छड़ें भी जब्त की गई हैं।

Related posts

राजद्रोह कानून पर केंद्र सरकार कर रही समीक्षा 

Prem Chand

रिलायंस जनरल इंश्योरेंस की रैपिड सेवा शुरू

samacharprahari

परमबीर सिंह की मुश्किलें बढ़ीं!

samacharprahari

17 आईएएस व 15 पीसीएस का तबादला

samacharprahari

छह साल में 15 लाख करोड़ के मुद्रा योजना लोन मंजूर 

samacharprahari

मुंबई में युद्धपोत रणवीर पर ब्लास्ट

samacharprahari